बेंगलूरु/दक्षिण भारतमुख्यमंत्री सिद्दरामैया ने शनिवार को खुलासा किया है कि आगामी १२ मई को होने जा रहे विधानसभा चुनाव में अपनी हार की आशंकाओं के मद्देनजर भारतीय जनता पार्टी और जनता दल (एस) ने चुनाव के बाद किसी दल को बहुमत न मिलने की स्थिति में गठबंधन सरकार बनाने के लिए आपसी समझौता कर लिया है। यह कुछ और नहीं, बल्कि इन दोनों पार्टियों के मन में बनी भ्रम की स्थिति का संकेत है। निश्चित रूप से कांग्रेस को चुनाव में बहुमत हासिल होगा और सत्ता में इसी पार्टी की वापसी भी होगी। वह रियलिटी मोबाइल ऐप्लिकेशन सीएम टॉक्स की लांचिंग के मौके पर एक कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि दोनों पार्टियां यह समझ चुकी हैं कि उन्हें चुनाव में बहुमत हासिल नहीं हो सकता है क्योंकि कांग्रेस राज्य में अपनी सत्ता बरकरार रखेगी। उन्होंने कहा, भाजपा के पास केंद्र की अपनी सरकार या पूर्व में राज्य की सत्ता में अपनी पारी के दौरान अपनी किसी उपलब्धि के बारे में बात करने का मौका ही नहीं है। उन्होंने सिर्फ पिछले चार वर्षों से केंद्र की सत्ता पर काबिज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार के काम-काज का डंका बजाया है। यही वजह है कि चुनाव प्रचार के दौरान यह पार्टी झूठ पर झूठ बोल रही है। मुख्यमंत्री ने कहा, जीत की उम्मीदें खो चुकी भाजपा और इसी प्रकार की मानसिकता से गुजर रहे जनता दल (एस) ने चुनाव के बाद राज्य में गठबंधन सरकार गठित करने का सपना संजो रखा है। यह भ्रम के सिवा कुछ और नहीं है। दोनों पार्टियों को जल्दी ही यह हकीकत समझ में आ जाएगी। उन्होंने चुनाव के बाद जनता दल (एस) के किंगमेकर की भूमिका में होने की किसी भी संभावना से स्पष्ट इन्कार करते हुए कहा कि यह एक क्षेत्रीय पार्टी है और पूरे कर्नाटक में भी इसकी मौजूदगी महसूस नहीं की जाती। इसे हमेशा की तरह सिर्फ कुछ चुनिंदा जिलों में इक्की-दुक्की सीटें जीतने में सफलता मिल सकती है। राज्य की जनता निश्चित रूप से कांग्रेस सरकार के काम-काज पर मुहर लगाकर इसे दोबारा सत्ता में आने का जनादेश देगी। इस सरकार ने अपने कार्यकाल के दौरान राज्य को पारदर्शी और स्वच्छ प्रशासन दिया है। इसका एकमात्र लक्ष्य राज्य का विकास सुनिश्चित करना रहा है। उन्होंने कहा, अब हमारी पार्टी इस बात पर अपना ध्यान केंद्रित कर रही है कि कर्नाटक को अगले पांच वर्षों के दौरान विकास की राह पर आगे कैसे ले जाया जाए्। मुझे पूरा विश्वास है कि राज्य की जनता मेरे कार्यकाल से काफी प्रभावित हैं और वह दोबारा मेरी ही पार्टी को सत्ता में वापस लाएगी। इस कार्यक्रम से इतर पत्रकारों से बातचीत में सिद्दरामैया ने दावा किया कि उन्होंने पहले ही पार्टी हाईकमान को मैसूरु जिले की चामुंडेश्वरी विधानसभा सीट से चुनाव ल़डने के अपने निर्णय की कल जानकारी दे दी थी लेकिन पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को उन पर दबाव है कि वह बादामी से भी चुनाव ल़डें। कई नेताओं ने इसके लिए पार्टी हाईकमान पर भी दबाव बनाया है। उन्होंने कहा कि इस विषय में वह पार्टी हाईकमान के फैसले का पालन करेंगे। उन्होंने कहा कि पिछले दो दिनों तक चामुंडेश्वरी सीट पर प्रचार करने के बाद वहां अपने पक्ष में लोगों की राय बनने के संकेत उन्हें नजर आए हैं। यहां से उन्होंने सात बार चुनाव ल़डे और पांच बार जीत दर्ज की है। वहीं, इस बार चामुंडेश्वरी सीट के लोगों के बीच कांग्रेस के लिए जैसा माहौल है, वैसा पहले कभी देखने को नहीं मिला। बातचीत के दौरान पत्रकारों ने मुख्यमंत्री को केंद्रीय मंत्री प्रकाश जाव़डेकर के इस बयान के बारे में जानकारी दी कि भाजपा के पास कांग्रेस सरकार के भ्रष्टाचार के कई दस्तावेजी सबूत हैं। इस पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, भाजपा नेता सिर्फ मेरे खिलाफ बयान दाग रहे हैं क्योंकि उनके पास मोदी सरकार की उपलब्धियों के नाम पर गिनाने के लिए कुछ भी नहीं है। इस सरकार ने केंद्र की सत्ता में अपने चार वर्ष पूरे कर लिए हैं लेकिन इसके पास बताने के लिए कोई उपल्थ्धिध नहीं है। हमारे पास भ्रष्ट भाजपा से सीखने के लिए कुछ भी नहीं है। यह पार्टी बेहद भ्रष्ट बीएस येड्डीयुरप्पा को अपने मुख्यमंत्री प्रत्याशी के रूप में आगे कर रही है।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY