चेन्नई। मुख्यमंत्री ई पलानीस्वामी और उपमुख्यमंत्री ओ पन्नीरसेल्वम ने पेरियार की प्रतिमा के खिलाफ भारतीय जनता पार्टी के नेता एच राजा की टिप्पणी को लेकर हमला बोला है। उनकी इस टिप्पणी ने राज्य में विवाद पैदा कर दिया है।अन्नाद्रमुक के संयोजक और उप मुख्यमंत्री ओ पन्नीरसेल्वम ने राजा के इस दावे को हास्यास्पद और अस्वीकार्य’’ बताया कि सोशल मीडिया पर उनकी टिप्पणी उनके एक एडमिन ने डाली थी। तर्कवादी नेता पेरियार को महान क्रांतिकारी बताते हुए उप मुख्यमंत्री ने कहा कि राजा को सार्वजनिक तौर पर माफी मांगनी चाहिए।राजा ने फेसबुक पर टिप्पणी करके कहा था कि पेरियार की प्रतिमा के साथ भी वैसा ही किया जाएगा जैसे त्रिपुरा में कम्युनिस्ट नेता लेनिन की मूर्ति के साथ किया गया है। हालांकि, बाद में राजा ने कहा था कि यह टिप्पणी उनके एडमिनिस्ट्रेटर ने की थी और इसे हटा दिया गया है। उन्होंने छह मार्च को इस पर खेद भी प्रकट किया था। राजा के खिलाफ कार्रवाई के सवाल पर पन्नीरसेल्वम ने कहा कि भाजपा नेता के इस बयान की असलियत की जांच करने के बाद कार्रवाई पर विचार किया जाएगा कि पोस्ट उनके एडमिन ने किया है। राजा की टिप्पणी की निंदा करते हुए पलानीसामी ने कहा कि पेरियार तमिलनाडु की पूंजी हैं।उपमुख्यमंत्री का यह बयान राज्य के मत्स्य मंत्री डी जयकुमार के उस बयान के एक दिन बाद आया है जिसमें जयकुमार ने कहा था कि राजा के खिलाफ किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं की जाएगी क्योंकि उन्होंने सार्वजनिक रुप से अपनी इस टिप्पणी के लिए माफी मांग ली है। जयकुमार के इस बयान की राज्य की मुख्य विपक्षी पार्टी द्रवि़ड मुनेत्र कषगम(द्रमुक) ने आलोचना की थी और कहा था कि राज्य की सत्तारुढ अखिल भारतीय अन्ना द्रवि़ड मुनेत्र कषगम(अन्नाद्रमुक) सरकार केन्द्र सरकार के सामने लाचार हो चुकी है और इसलिए भाजपा नेता एच राजा का बचाव कर रही है।

LEAVE A REPLY