हुब्बल्ली। हावेरी जिले में रविवार रात स़डक हादसे में एक टीवी पत्रकार की हुई मौत के बाद उसके शव को एक कचरा गा़डी में डालकर ले जाने की खबर पर गंभीरता दिखाते हुए मुख्यमंत्री सिद्दरामैया ने सोमवार को मामले की पुलिस जांच का आदेश दिया। एक कन्ऩड समाचार चैनल में कार्यरत मोनेश पोटराज (२८) की स़डक हादसे में मौत हो गई थी। बाद में वीडियो फुटेज में देखा गया कि पुलिस ने मोनेश का शव और उसकी बाइक को एक कचरा वाहन में लोड कर दिया। इस दौरान वीडियो में एक पुलिसकर्मी कह रहा है कि पत्रकार की मौत हो चुकी है और उसके शव को अस्पताल पहुंचाने के लिए इस वाहन का इस्तेमाल किया जा रहा है। पुलिस के इस रवैये की चारों ओर तीखी आलोचना हो रही है। यहां तक कि जब हावेरी अस्पताल में शव लाया गया तब कचरा वाहन में शव लाया देखकर वहां मौजूद मीडियाकर्मियों ने इस पर गंभीर आपत्ति जताई।ॅठ्ठर्‍ज्र्‍झ्र्‍ ृय्स्द्य झ्रु्ययफ् ृय्द्भरु€त्र फ्ह्र्रझ्ष्ठ्रख्ष्ठ ्यद्यझ्ह्ट्टश्चसिद्दरामैया को जब इसकी जानकारी मिली तब उन्होंने अपने ट्वीटर संदेश में जांच का आदेश दिया। उन्होंने लिखा, मुझे यह जानकर बेहद दुख हुआ है। मैंने एडीजीपी और पुलिस आयुक्त (परिवहन एवं स़डक सुरक्षा) को पूरे मामले की रिपोर्ट आईजीपी (उत्तर रेंज) को सौंपने का निर्देश दिया है और कार्रवाई की जाएगी। झ्रु्ययफ् ·र्ष्ठैं झ्य्फ् प्रय्प् ढ्ढणह्द्मष्ठ ·र्ैंय् प्य्ब्द्म द्मब्र्‍्रहावेरी पुलिस अधीक्षक के. परशुराम ने सोमवार को कहा कि जिस जगह पर दुर्घटना हुई वहां कोई और दूसरा वाहन नहीं था, इसी कारण पीि़डत का शव और दोपहिया वाहन दोनों को कचरा ट्रैलर में डालकर ले जाया गया। उन्होंने कहा कि पुलिस के पास शव ढोने के लिए कोई अपना वाहन नहीं है और एम्बुलेंस शवों को नहीं ले जाते हैं। इसी कारण उस वाहन में शव ले जाया गया।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY