बेंगलूरु। शहर के एक रेस्तरां का सेप्टिक टैंक साफ करने के लिए उतरे दो मजदूरों का दम घुटने से हुई मौत के सिलसिले में पुलिस ने बृहत बेंगलूरु महानगर पालिके (बीबीएमपी) के स्वास्थ्य निरीक्षक और एक उप स्वास्थ्य निरीक्षक को गिरफ्तार कर लिया है। मजदूरों की मौत की यह घटना मंगलवार को घटित हुई थी। पुलिस ने इस मामले में कुछ वरिष्ठ अधिकारियों को बख्श दिया। बुधवार को पत्रकारों से बातचीत में पुलिस आयुक्त टी सुनील कुमार ने बताया कि दोनों अधिकारियों को अपने कर्तव्य के निर्वहन में कोताही बरतने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। मजदूरों की मौत के लिए उनके द्वारा अपने कर्तव्यों की अनदेखी को मुख्य वजह माना जा रहा है। इन दोनों अधिकारियों ने नियमों का उल्लंघन करते हुए एक भवन के बेसमेंट में रेस्तरां के संचालन की अनुमति दी थी। इन निम्न श्रेणी के अधिकारियों की पहचान स्वास्थ्य निरीक्षक देवराज और उप स्वास्थ्य निरीक्षक कल्पना के नाम से की गई है। उल्लेखनीय है कि एक मृतक रवि कुमार और रामू एक वाणिज्यिक परिसर के बेसमेंट में चल रहे रेस्तरां के सेप्टिक टैंक की सफाई के लिए इसके अंदर गए थे। १५ मिनट बीत जाने के बाद भी जब दोनों टैंक से बाहर नहीं आए तो रेस्तरां के अन्य कर्मचारियों ने १२ फीट गहरे टैंक के अंदर झांककर देखा। उन्हें रवि और रामू टैंक के अंदर मृत अवस्था में दिखे। उनसे सूचना मिलने पर पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और दोनों लाशों को निकालकर पोस्ट मॉर्टम के लिए भेज दिया। इस घटना के बाद पुलिस ने अब तक चार लोगों को गिरफ्तार किया है। इनमें रेस्तरां के मैनेजर आयुष गुप्ता और रेस्तरां के कर्मचारी वेंकटेश कुमार भी शामिल हैं। इन दोनों को घटना के दिन मंगलवार रात ही गिरफ्तार कर लिया गया था।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY