चेन्नई। तमिलनाडु सरकार ने बुधवार को कहा कि चक्रवाती तूफान ओखी से प्रभावित कन्याकुमारी में कुल ४,५०१ मकानों को आंशिक या पूरा नुकसान हुआ है और इस बाबत अब तक ४१ लाख रुपए की राहत मुहैया कराई जा चुकी है। एक सरकारी विज्ञप्ति में राजस्व सचिव बी चंद्रमोहन के हवाले से बताया गया कि १,६८७ मकान पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए जबकि २,८१४ मकानों को आंशिक नुकसान हुआ।विज्ञप्ति के मुताबिक, जिले में क्षतिग्रस्त मकानों का आकलन पूरा हो चुका है। पूरी तरह क्षतिग्रस्त हुए ३२५ मकानों के मालिकों के बैंक खातों में पांच-पांच हजार रुपए जमा किए गए हैं जबकि आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त १,००२ मकानों को चार-चार हजार रुपए दिए गए हैं। नुकसान सहने वाले शेष मकान मालिकों के बैंक खातों के ब्योरों के सत्यापन की प्रक्रिया जारी है और यह पूरी हो जाने के बाद राहत की राशि दो दिन के भीतर उनके खातों में जमा कर दी जाएगी। धान की फसल, नारियल के पे़डों, केले के पौधों, रबर और मसालों की फसल को हुए नुकसान का आकलन आज से शुरू किया जाएगा। राजस्व, कृषि एवं बागवानी विभागों के अधिकारियों की टीम यह आकलन करेगी। चंद्रमोहन के हवाले से विज्ञप्ति में बताया गया कि युद्ध-स्तर पर यह कोशिशें की जा रही हैं। चक्रवात ओखी की चपेट में आने से कन्याकुमारी पर खासा असर प़डा था। वहां सामान्य जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया था। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने रविवार को जिले का दौरा कर भारतीय नौसेना, तटरक्षक बल और वायुसेना की ओर से लापता मछुआरों को खोजने और उन्हें बचाने के अभियान की समीक्षा की थी।

LEAVE A REPLY