बेंगलूरु। चुनाव आयोग (ईसी) की छह सदस्यीय टीम ने बुधवार को कर्नाटक विधानसभा चुनाव की तैयारियों के सिलसिले में दो दिवसीय यात्रा के अंतिम दिन राज्य में विभिन्न राजनीतिक दलों और चुनाव अधिकारी के साथ परामर्श किया। चुनाव आयोग की तैयारी के आकलन के लिए वरिष्ठ उप चुनाव आयुक्त उमेश सिन्हा की अगुवाई वाले दल ने राजनीतिक दलों के नेताओं से भी मुलाकात की। इस दौरान आयोग की टीम ने राजनीतिक दलों के साथ अलग बैठकें कीं और बाद में चुनावी तैयारी और चुनौतियों पर चर्चा के लिए राज्य में मतदान अधिकारियों से मुलाकात की। अप्रैल-मई में कर्नाटक में मतदान होने की संभावना है। वर्तमान में कर्नाटक में २२४ विधानसभा क्षेत्रों में ४.९० करो़ड मतदाता हैं्। मतदाता सूची के नामों के नामांकन के लिए दोनों ऑनलाइन और ऑफलाइन सुविधाएं उपलब्ध हैं। सिन्हा ने कहा कि अंतिम निर्वाचक रोल २० फरवरी को प्रकाशित होगा। हालांकि, जिन लोगों ने अपने नाम दर्ज करने के लिए ऑनलाइन आवेदन कराए हैं वे उम्मीदवारों के नामांकन पत्र दाखिल करते समय मतदाता सूची में शामिल होंगे। उन्होंने कहा कि पहली बार सभी विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र डिजिटल मानचित्र पर उपलब्ध होंगे जो कि मतदाताओं को अपने मतदान केंद्रों की पहचान करने में मदद करेंगे।उन्होंने कहा कि स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव सुनिश्चित करने के लिए सभी कदम उठाए जाएंगे। चुनाव समावेशी होगा और मतदाताओं के बीच जागरूकता फैलाई जाएगी। उन्होंने कहा कि इसमें न केवल चुनाव प्रक्रिया के बारे में बल्कि राजनीतिक दलों द्वारा नकद सहित विभिन्न प्रकार के प्रलोभन से भी बचने के लिए जागरुक किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सूचना प्रौद्योगिकी के साधनों का इस्तेमाल पूरी तरह से किया जाएगा ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि चुनाव प्रक्रिया पूरी तरह से निष्पक्ष हो। इसके लिए भौगोलिक सूचना प्रणाली (जीआईएस) का उपयोग ब़डे पैमाने पर किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सामान्य तौर पर कर्नाटक में औसतन करीब ७१ प्रतिशत मतदान का रिकॉर्ड है और आयोग यह सुनिश्चित करना चाहता था कि इस बार भी मतदाताओं इस प्रतिशत को बरकरार रखें। ्यद्मप्य्श्चघ्·र्ैं द्मय्द्बय्प्ध्र्‍ द्बष्ठ्र ब्ह् फ्·र्ैंत्रय् ब्स् ्यप्डत्रय्द्यभारतीय चुनाव आयोग मतदाता सूची में पात्र मतदाताओं के नामों को शामिल करने के लिए तारीख का विस्तार कर सकता है। वर्तमान में, मतदाता सूची में नामांकन के लिए अंतिम तारीख १२ जनवरी है। विधानसभा चुनावों के लिए चुनाव की तैयारी की समीक्षा के बाद यहां मीडियाकर्मियों से बात करते हुए सिन्हा ने कहा कि विभिन्न जिलों के अधिकारियों ने मतदाताओं के नामांकन के लिए अंतिम तिथि के विस्तार की मांग की है।ृप्स्थ् द्धय्ैंज्ज्यय्ख्रष्ठ्यप्रय्द्भह्र ·र्ष्ठैं द्मय्द्ब ज्ह्ठ्ठणक्कद्मष्ठ ·र्ैंर्‍ ्यप्रय्·र्ैंय्द्भत्रचुनाव आयोग की टीम को राजनीतिक दलों की ओर से शिकायत की गई कि मतदाता सूची में अवैध रूप से कर्नाटक में रहे रहे बांग्लादेशियों के नाम जो़डने के प्रयास किए जा रहे हैं। आयोग ने कर्नाटक के मुख्य निर्वाचन अधिकारी संजीव कुमार को निर्देश दिया कि वे इन शिकायतों को देखंे और यह सुनिश्चित करें कि सिर्फ भारतीय नागरिकों का नाम मतदाता सूची में शामिल हो। भाजपा ने सत्ताधारी कांग्रेस के खिलाफ शिकायत की है कि वह बेंगलूरु में अवैध बांग्लादेशियों का नाम मतदाता सूची में जो़डने का प्रयास कर रही है।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY