उडुपी। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष बीएस येड्डीयुरप्पा ने सोमवार को कहा कि परिवर्तन यात्रा का मकसद सिर्फ राज्य की मौजूदा कांग्रेस सरकार के भ्रष्टाचार और सरकार की असफलताओं से जनता को वाकिफ कराना है न कि यात्रा के माध्यम से वे खुद के लिए जनसमर्थन जुटाने या खुद को मुख्यमंत्री उम्मीदवार के रूप में पेश करने की कोशिश में हैं। परिवर्तन यात्रा के क्रम में सोमवार को उडुपी में आयोजित संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए येड्डीयुरप्पा ने कहा कि केरल में आरएसएस और भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्याएं हो रही हैं और अपराध में शामिल लोगों और संगठनों को केरल के मुख्यमंत्री और सत्ताधारी दल सीपीएम का समर्थन मिला है। इसी प्रकार कर्नाटक में भी सैंक़डों पार्टी कार्यकर्ता मारे गए हैं और तटीय क्षेत्र में आतंकवादी गतिविधियों में वृद्धि हुई है। उन्होंने कहा कि उडुपी और दक्षिण कन्ऩड जिले में असहज चुप्पी है जिससे अंतर्निहित ग़डब़डी का अनुभव किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि प्रशांत पुजारी, शरत मालीवाल और सुखानंद शेट्टी जैसे आरएसएस-भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्याएं इसका सबूत हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री सिद्दरामैया पर आरोप लगाते हुए कहा कि सिद्दरामैया ने राज्य में ग़डब़डी फैलाने और क्षेत्र को अशांत करने का बीजारोपण करने वाले संगठनों जैसे पीएफआई, एसडीपीआई आदि के खिलाफ कार्रवाई करने के बदले चुप्पी साध ली है और सरकार हमलावरों पर कोई कार्रवाई करने में नाकाम रही है। येड्डीयुरप्पा ने राज्य सरकार को सरकार की मौजूदा वित्तीय स्थिति पर श्वेत पत्र जारी करने की मांग की। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा पर्याप्त निधि उपलब्ध कराने के बाद भी राज्य सरकार भारी उधार ले रही है। इस स्थिति के बारे में हमें समझा जाना चाहिए। उन्होंने सिद्दरामैया सरकार से सिंचाई, सामाजिक कल्याण, शिक्षा, और अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति तथा अन्य पिछ़डा वर्ग कल्याण के लिए पिछले चार वर्षों के दौरान बजट आवंटन के आंक़डे प्रदान करने के लिए कहा और कहा कि आवंटन एवं खर्च की असमानता में भारी अंतर है जो एक ब़डी ग़डब़डी है। राज्य सरकार पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि हम राज्य में ‘तुगलक दरबार’’ को खत्म करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि जब नरेंद्र मोदी ने प्रधान मंत्री का पद संभाला तब यूपीए सरकार ने एक खाली खजाने को छो़डा था, उन्होंने कहा कि जब कर्नाटक की सत्ता में भाजपा आएगी तब यहां भी कांग्रेस सरकार वही स्थिति छो़डेगी इसकी प्रबल संभावना है। इस दौरान येड्डीयुरप्पा ने उडुपी श्रीकृष्ण मठ का दौरा किया और पेजावर मठाधीश से आशीर्वाद लिया।

LEAVE A REPLY