बागलकोट। कर्नाटक के जल संसाधन मंत्री एमबी पाटिल ने रविवार को आरोप लगाया कि गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर और उनके मंत्रिमंडल के अन्य सदस्यों ने प्रोटोकॉल का उल्लंघन करते हुए कनकुम्बी महादयी जलक्षेत्र का दौरा किया है। उन्हांेने कहा कि प़डोसी राज्य के सत्तासीन नेताओं को यह दौरा करने की कोई आवश्यकता नहीं थी। अगर वे दौरा करना चाहते थे तो उन्हें प्रोटोकॉल के तहत हमें सूचित करना चाहिए था ताकि हमारी सरकार उन्हें पर्याप्त सुरक्षा मुहैया कराती। पाटिल ने कहा कि प़डोसी राज्य के सत्ताधारियों को इस प्रकार की गोपनीय यात्रा करने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि उस क्षेत्र में कर्नाटक सरकार कुछ भी अवैध काम नहीं कर रही है, विशेषकर उस स्थिति में जब मामला कोर्ट के समक्ष लंबित है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री सिद्दरामैया ने भी कहा है कि उन्हें गोवा सरकार के मंत्रियों के कनकुम्बी महादयी क्षेत्र का दौरा करने से कोई आपत्ति नहीं है क्योंकि हम नहीं चाहते कि बाद में गोवा यह कहे कि हमने उन्हें यात्रा करने से रोका। पाटिल ने कहा कि हमने पूरी पारदर्शिता रखी है लेकिन गोवा सरकार लोगों को मूर्ख बना बना रही है।ख्ह्प्य् ·र्ष्ठैं ख्रय द्बष्ठ्र द्मब्र्‍्र प्रय्य्यद्बय त्र्ष्ठ झ्यद्यश्च·र्ैंद्य सूत्रों के अनुसार बेलगावी जिले के खानपुर तालुक के कनकुम्बी महादयी जल क्षेत्र का रविवार को दौरा करने वाली गोवा सरकार की टीम में मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर शामिल नहीं थे। प़डोसी राज्य के विधानसभा स्पीकर के नेतृत्व में एक ४० सदस्यीय दल, जिसमें दो विधायक और कुछ पूर्व विधायक शामिल थे, रविवार को दोपहर करीब पौने एक बजे क्षेत्र का दौरा किया। बेलगावी पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार रेड्डी ने मीडिया के एक वर्ग से बात करते हुए उन खबरों का खंडन किया कि गोवा के मुख्यमंत्री ने क्षेत्र का दौरा किया था।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY