बल्लारी। जनता दल (एस) सुप्रीमो और पूर्व प्रधानमंत्री एचडी एचडी देवेगौ़डा ने भविष्यवाणी करते हुए कहा कि गुजरात और हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनावों से परिणाम आने के बाद भारतीय राजनीति को अत्यधिक ध्रुवीकरण किया जाएगा। मंगलवार को संवाददाताओं से बात करते हुए उन्होंने कहा कि भारतीय राजनीति एक महत्वपूर्ण दौर में चल रही है और ऐसा प्रतीत होता है कि देश में गुजरात और हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव के परिणाम के बाद बहुत ज्यादा ध्रुवीकृत राजनीति देखी जाएगी। ऐसे में यह आश्चर्यचकित होने वाली बात नहीं होगी कि जनता परिवार के सभी पुराने नेता एक बार फिर से एक साथ शामिल हो जाएंगे। उन्होंने कहा कि क्षेत्रीय दलों की ताकत को कम करके नहीं आंका जा सकता है क्योंकि मतदाताओं ने उन्हें प्रतिबद्ध कर रखा है। देवेगौ़डा ने कहा कि जनता दल (एस) अपनी ताकत पर राज्य की सत्ता में आएगी। यह मेरा सपना है। भाजपा पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि मेरी पार्टी के पास नहीं है कॉर्पोरेट घरानों का समर्थन नहीं है जैसा भाजपा के पास है। मैं केवल लोगों से अपील कर सकता हूं कि वे जनता दल (एस) के ज्यादा से ज्यादा विधायकों को विधानसभा में भेज दें और हम आपकी मांगें पूरी करें। भाजपा नेताओं की निंदा करते हुए उन्होंने कहा कि मेंगलूरु में साम्प्रदायिक तनाव के बाद अब भाजपा के लोग बाबाबुदनगिरि और हुंसूर में साम्प्रदायिक सौहार्द बिगा़डने का काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि चूंकि राज्य में विधानसभा चुनाव नजदीक है इसलिए भाजपा के लोग इस प्रकार का काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मैं उनसे आग्रह करता हूं कि आप लोगों की भावनाओं से न खेलें। उन्होंने कहा कि चुनाव के लिए राज्य में सामाजिक और साम्प्रदायिक सौहार्द को बिगा़डने का काम नहीं होना चाहिए। ्यफ्सद्यय्द्बस्द्भय् द्मष्ठ ्यख्रद्भय् द्नश्नलट्टय्घ्य्द्य द्बरु€त्र प्रय्य्फ्द्मखुद को भ्रष्टाचार मुक्त शासन देने वाला पहला मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री बताते हुए देवेगौ़डा ने कहा कि इसी प्रकार मौजूदा मुख्यमंत्री सिद्दरामैया ने भी राज्य में भ्रष्ट्राचार मुक्त शासन देने में सफलता पाई है। संवाददाताओं से बात करते हुए देवेगौ़डा ने सिद्दरामैया के शासन की सराहना की। उन्होंने कहा कि सिद्दरामैया ने अब तक भ्रष्टाचार मुक्त सरकार दी है और उनके मंत्री भी पाकसाफ हैं। उन्होंने कहा कि इसी प्रकार एचडी कुमारस्वामी के कार्यकाल के दौरान भी भ्रष्टाचार का कोई आरोप नहीं था लेकिन वह एक ऐसे मामले का सामना कर रहे हैं जिसे अभी तक मंजूरी नहीं दी गई है।

LEAVE A REPLY