बेेलगावी। दिनभर चली उथल पुथल और प्रदर्शनों के बाद अंततः राज्य सरकार से सकारात्मक आश्वासन मिलने पर निजी डॉक्टरों ने अपनी ह़डताल वापस ले ली। कर्नाटक निजी मेडिकल एस्टाब्लिशमेंट अधिनियम (केपीएमए) के प्रस्तावित संशोधन के विरोध में राज्य भर के निजी डॉक्टरों ने सोमवार को ह़डताल कर सरकार पर दबाव बनाया था। बाद में मुख्यमंत्री सिद्दरामैया से हुई मुलाकात में राज्य सरकार ने क़डे प्रावधानों को छो़डने का वादा किया जिसके तहत डॉक्टरों पर भारी अर्थ दंड और जेल भेजने का प्रस्ताव वापस लेना शामिल है। सरकार की ओर से मिले आश्वासन के बाद डॉक्टरों ने शाम में अपनी ह़डताल वापस लेने की घोषणा की।

LEAVE A REPLY