चेन्नई। भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) की प्रदेशाध्यक्ष तमिलसै सौंदरराजन ने शुक्रवार को कहा कि भाजपा राज्य में विश्‍वविद्यालयों का भगवाकरण नहीं कर रही है। उन्होंने भाजपा के स्थापना दिवस के मौके पर यहां पार्टी कार्यालय में ध्वजारोहण के बाद कहा कि भाजपा अन्ना विश्‍वविद्यालय में कुलपति की नियुक्ति की आड़ में शैक्षणिक संस्थानों का भगवाकरण नहीं कर रही। उन्होंने स्पष्ट किया कि एम के सुरप्पा की कुलपति के रूप में नियुक्ति योग्यता के आधार पर की गयी है और इस पर राजनीति नहीं करनी चाहिए।
उन्होंने कहा कि कावेरी मुद्दे पर किसानों के विरोधी रहे राजनीतिक दल अब राजनीतिक कारणों से प्रदर्शन कर रहे हैं। सुरप्पा पूर्व में आईआईटी-रोपड़ में निदेशक रहे हैं। करीब दो वर्ष के अंतराल के बाद तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित ने गुरुवार को उन्हें तीन साल की अवधि के लिए अन्ना विश्‍वविद्यालय का कुलपति नियुक्त किया।
इस बीच द्रविड मुनेत्र कषगम के कार्यकारी अध्यक्ष एम के स्टालिन ने सुरप्पा की नियुक्ति का विरोध किया है। स्टालिन ने एक बयान में कहा कि राज्यपाल ने कुलपति के रूप में एक कन्नड़ का चयन किया है , जबकि तमिलनाडु में ही काफी संख्या में शिक्षाविद हैं। उन्होंने राज्यपाल से राज्य में शैक्षणिक संस्थानों का भगवाकरण न किये जाने की अपील भी की है।

LEAVE A REPLY