बेलगावी। राज्य के गृह मंत्री रामलिंगा रेड्डी ने बुधवार को कहा कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के कर्नाटक में प्रवेश पर प्रतिबंध लगाने का कोई विचार नहीं है। उन्हांेने कहा कि राज्य सरकार शाह के कर्नाटक में प्रवेश पर प्रतिबंध का कोई प्रस्ताव नहीं रखती है। भारत एक लोकतांत्रिक देश है जहां देश को कोई नागरिक देश के किसी भी हिस्से में जा सकता है। दरअसल ऐसा संदेह व्यक्त किया जा रहा था कि अमित शाह अपनी ने पार्टी के युवा कार्यकर्ताओं को राज्य में उत्तेजक विरोध करने की सलाह दी जिस वजह से राज्य सरकार शाह के कर्नाटक में प्रवेश पर प्रतिबंध लगा सकती है। कर्नाटक राज्य रिजर्व पुलिस के पासिंग आउट परेड की समीक्षा करने के बाद संवाददाताओं से बात करते हुए रेड्डी ने कहा कि यह उस व्यक्ति के लिए अपमानजनक होगा, जो केन्द्र की सत्ता में मौजूदा दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं, कि वे अपने पार्टी कार्यकर्ताओं को साम्प्रदायिक तनाव उकसाने के लिए कहें। उन्होंने कहा, हम किसी के प्रवेश को प्रतिबंधित नहीं करते हैं लेकिन उन्हें ऐसी गतिविधियों में शामिल नहीं होना चाहिए, जो सामाजिक सद्भाव को परेशान करता हो। ऐसे में कानून सभी के लिए समान है।्यब़्ख्ररू द्नय्प्द्मय्ृह्र ·र्ैंह् द्नठ्ठणक्क·र्ैंय्त्रर्‍ ब्स् द्नय्ज्झ्य् रेड्डी ने कहा कि हम यह नहीं कहते हैं कि राज्य मंे कानून और व्यवस्था की समस्याएं नहीं है लेकिन मैसूरु के हंुसूर में जो तनाव उत्पन्न हुआ वहां भाजपा नेताओं ने आगामी विधानसभा चुनाव में वोट बैंक बनाने के लिए लोगों की धार्मिक भावनाओं को भ़डकाया। रेड्डी ने कहा कि हम भी भगवान के बहुत ब़डे भक्त हैं लेकिन भाजपा नेताओं ने दत्ता जयंती, हनुमान जयंती और अन्य धार्मिक समारोहों एवं उत्सवों का दुरुपयोग किया है। भाजपा हिन्दुओं और भगवान राम, हनुमान या दत्ता की मालिक नहीं है, हम सब भी भगवान को मानते हैं और पूजा करते हैं लेकिन भाजपा सिर्फ वोट बैंक बनाने के लिए इनका दुरुपयोग करती है।

LEAVE A REPLY