nagapattinam after gaja
nagapattinam after gaja

चेन्नई। चक्रवाती तूफान गाजा गुरुवार देर रात करीब 1.40 बजे तमिलनाडु के नागापट्ट‍िनम पहुंचा। इससे हवाओं की रफ्तार 100 किमी प्रतिघंटा तक जा पहुंची। मौसम विभाग के मुताबिक, अगले छह घंटों में यह कमजोर पड़ सकता है। अब यह पश्चिम-दक्षिण इलाकों की ओर बढ़ रहा है। पश्चिम की ओर इसका रुख होने के बाद प्रभाव में कमी आने की संभावना है।

गाजा के कारण नागापट्टिनम जिले में कई जगह भूस्खलन के समाचार हैं। गाजा शुक्रवार सुबह पंबन और कड्डालोर के मध्य इलाकों को पार कर सकता है। मौसम विभाग की इस पर कड़ी नजर है। नौसेना को पहले ही सूचना दे दी गई थी, जिसके बाद वह अलर्ट पर है।

प्रभावित इलाकों में शैक्षणिक संस्थानों में अवकाश घोषित कर दिया था। राज्य सरकार ने करीब 76 हजार लोगों को प्रभावित इलाकों से हटाकर कड्डालोर और नागापट्टनम सहित छह जिलों में भेजा है। यहां 331 राहत केंद्र बनाए गए हैं। गाजा के असर से कई स्थानों पर बारिश हुई। इससे भूस्खलन हुआ और पेड़ धराशायी हो गए।

– आ गईं ‘दीपवीर’ की शादी की तस्वीरें, यहां देखिए

तूफान के मद्देनजर आम लोगों की हिफाजत के लिए तटरक्षक बल पूरी तरह तैयार हैं। रक्षा मंत्रालय के मुताबिक, 9 नवंबर से ही तटरक्षक बल के आठ पोत और दो डोर्नियर विमान तैयार हैं। इसके अलावा स्थानीय लोगों को मौसमी हालात की जानकारी से अवगत कराया जा रहा है।

इस बीच सोशल मीडिया पर कुछ तस्वीरें आई हैं। इनमें देखा गया कि कई घरों को खासा नुकसान हुआ है। तूफान इतना ताकतवर था कि कई घर बुरी तरह तहस-नहस हो गए। गाजा के जिन इलाकों से गुजरने की आशंका थी, वहां पहले ही हाई अलर्ट जारी कर लोगों को चेतावनी दे दी गई थी।

सरकार ने मत्स्य अधिकारियों को नौकाओं की गिनते करने के लिए कहा है। प्रभावित इलाकों में एनडीआरएफ की टीमें तैनात की गई हैं। पुद्दुचेरी के मुख्यमंत्री वी. नारायणसामी ने तैयारियों का जायजा लिया और अधिकारियों के साथ बैठक की। सरकार ने बताया कि जो इलाके गाजा से प्रभावित हैं, वहां आम नागरिकों के लिए राहत केंद्र खोले गए हैं। नौसेना ने कहा है कि जरूरी मानवीय सहायता उपलब्ध कराने के लिए पूरी तैयारी है।

ये भी पढ़िए:
– राजस्थान: देर रात कांग्रेस ने जारी की 152 उम्मीदवारों की पहली सूची
– मैगी के 10 खाली रैपर लाओ, एक पैकेट मुफ्त पाओ!
– दूल्हे ने फिजूलखर्ची रोकने की रखी शर्त, सिर्फ एक रुपया लेकर बिना दहेज की शादी
– श्रीराम से जुड़े तीर्थों के दर्शन कराने चल पड़ी रामायण एक्सप्रेस, वानर सेना ने किया स्वागत

LEAVE A REPLY