gurmeet ram rahim singh
gurmeet ram rahim singh

पंचकुला। हरियाणा की पंचकुला जेल में बंद डेरा सच्चा सौदा के मुखिया गुरमीत राम रहीम सिंह को सीबीआई की विशेष अदालत ने राहत दी है। उसकी जमानत मंजूर हो गई है। यह जमानत 400 साधुओं को डेरा द्वारा नपुंसक बनाने के मामले में हुई है। गुरमीत राम रहीम को 2017 में न्यायालय ने अपनी दो शिष्याओं से दुष्कर्म का दोषी पाया था। इसके बाद उसे 20 साल की सजा हुई थी।

कानून विशेषज्ञों की मानें तो अभी राम रहीम को जेल में ही रहना होगा, क्योंकि उसे जो जमानत मिली है वह वंध्याकरण मामले में है। बता दें कि डेरा प्रमुख पर शिष्याओं से दुष्कर्म के अलावा कई अन्य गंभीर आरोप लग चुके हैं। राम रहीम पर आरोप है ​कि उसके आश्रम में 400 से ज्यादा साधुओं को नपुंसक बनाया गया। इसके लिए डेरे के डॉक्टरों ने मदद की।

अब सीबीआई अदालत से उसे इस मामले में राहत मिली है। मामले की सुनवाई करते हुए जज जगदीप सिंह ने उसे जमानत देने का ऐलान किया। डेरा प्रमुख को दुष्कर्म मामले में जेल होने के बाद उसके पूर्व सहयोगियों ने कई आरोप लगाने शुरू किए। उनमें से खट्टा सिंह नामक शख्स ने कहा था कि राम रहीम के आश्रम में न केवल महिलाओं का यौन शोषण, बल्कि साधुओं को नपुंसक तक बना दिया जाता है।

खट्टा सिंह पूर्व में डेरे से जुड़ा रहा है और वह राम रहीम का ड्राइवर रह चुका है। हालांकि जुलाई 2012 में ही डेरे से जुड़े एक पूर्व साधु ने उच्च न्यायालय में याचिका दायर कर यह आरोप लगाया था कि राम रहीम के आश्रम में साधुओं को नपुंसक बनाया जाता है।

इस आरोप के बाद सनसनी फैल गई और डेरे पर कई सवाल उठने लगे। उस साधु ने कहा था कि वंध्याकरण के इस काम में डेरे के डॉक्टरों की एक टीम शामिल है। वही गुरमीत के आदेश पर ऐसे कृत्यों को अंजाम देती है। साधु ने आरोप लगाया था कि आश्रम में लोगों को नशीली चीजें भी दी जाती हैं।

ये भी पढ़िए:
– तेज रफ्तार से चल रही थी ट्रेन, अचानक फिसली यह लड़की, वीडियो रोंगटे खड़े कर देगा
– योगी को घेरने की कोशिश में दिग्विजय ने पोस्ट की फर्जी तस्वीर, खूब उड़ रहा मजाक
– अगर भारत में हो जापान की इस तकनीक का इस्तेमाल तो मुफ्त में मिल सकती है बिजली!
– जेल में छुपकर बातें करता था कैदी, पोल खुलने के डर से निगल लिया मोबाइल

LEAVE A REPLY