sidhu-and-pak-army-chief-bajwa
sidhu-and-pak-army-chief-bajwa

इस्लामाबाद। पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू इमरान खान के शपथग्रहण कार्यक्रम में पाकिस्तान गए और वहां पाक की शान में कई बाते कह दीं। यही नहीं, उन्होंने वहां के सेना प्रमुख जनरल बाजवा को बहुत प्रेम से गले लगाया और दावा किया कि पाकिस्तान करतापुर साहिब के दर्शन के लिए दरवाजे खोलेगा। अब पाकिस्तान ने उस दावे का खंडन कर दिया है। पाकिस्तान की ओर से कहा गया है कि एक घटना से ही इस संबंध में कोई निर्णय नहीं लिया जा सकता। इसकी एक तय प्रक्रिया है जो लंबी है। लिहाजा दोनों देशों के बीच बातचीत के बाद ही कोई निर्णय होगा।

इस खंडन के साथ ही पाकिस्तान ने सिद्धू के दावों को गलत ठहरा दिया जो उन्होंने बाजवा को लेकर किए थे। सिद्धू का यह पूरा दौरा ही काफी विवादों में रहा और उनकी बहुत आलोचना हुई। पाकिस्तान जाकर सिद्धू वहां की शान में कसीदे पढ़ते दिखे। उल्लेखनीय है कि करतापुर साहिब का सिक्ख धर्म में विशेष महत्व है। यहां गुरु नानक देवजी ने अपने जीवन के कई साल गुजारे थे। इसलिए सिक्ख धर्म के अनुयायियों की हार्दिक इच्छा होती है कि वे एक बार जरूर इस स्थान के दर्शन करें। वर्तमान में यह पाकिस्तान में स्थित है।

जब सिद्धू पाकिस्तान गए तो उन्होंने दावा किया था कि जनरल बाजवा ने गुरु नानक देवजी के 550वें प्रकाश दिवस के अवसर पर भारतीय श्रद्धालुओं के लिए द्वार खोलने की बात कही है। अब पाकिस्तान ने ही कह दिया है कि महज एक घटना के आधार पर प्रक्रिया को आगे नहीं बढ़ाया जा सकता। इसके लिए दोनों देशों को बातचीत करनी होगी। अब भारत में लोगों ने सिद्धू से सवाल शुरू कर दिए हैं।

हालांकि ये पंक्तियां लिखे जाने तक सिद्धू का कोई बयान नहीं आया। इस घटना के बाद कहा जा रहा है कि सिद्धू के पाक दौरे पर छिड़ा विवाद और लंबा चलेगा। उन्हें पाकिस्तान के प्रधानमंत्री भले ही शांति का दूत बता चुके हैं लेकिन भारत में जनप्रतिनिधि होने के नाते उनसे सवाल तो पूछे जाएंगे।

LEAVE A REPLY