cisf in kashmir
cisf in kashmir

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में शुक्रवार देर रात आतंकी हमला हुआ। इसमें सीआईएसएफ का एक जवान शहीद हो गया। जानकारी के अनुसार, आतंकियों ने बड़गाम जिले के नौगाम स्थित पावर ग्रिड प्लांट पर ग्रेनेड से हमला किया। इससे सीआईएसएफ के एएसआई राजेश कुमार गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें अस्पताल ले जाया गया, जहां इलाज के दौरान उन्होंने आखिरी सांस ली।

हमले के बाद आतंकी फरार हो गए। सुरक्षाबलों ने इस इलाके में तलाशी अभियान चलाया है। बता दें कि शहीद राजेश कुमार का ताल्लुक राजस्थान के झुंझुनूं से था। वे नौगाम स्थित पावर ग्रिड प्लांट की सुरक्षा में तैनात थे। अचानक आतंकियों ने उन पर ग्रेनेड से हमला कर दिया।

इससे पहले गुरुवार को पत्थरबाजी में घायल हुए सेना के जवान राजेंद्र सिंह ने भी इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। राजेंद्र सिंह सीमा सड़क संगठन के काफिले की सुरक्षा में तैनात थे। यह काफिला अनंतनाग में एक तिराहे से गुजरा तो पत्थरबाजों ने उन्हें निशाना बनाया। इससे सिपाही राजेंद्र सिंह घायल हो गए। उनके सिर में पत्थर लगा था।

शुक्रवार को श्रीनगर के अस्पताल में उन्होंने आखिरी सांस ली। इस संबंध में सेना ने एक बयान जारी कर कहा कि राजेंद्र सिंह क्विक रिएक्शन टीम के सदस्य थे। उन्हें सिर पर तेजी से पत्थर लगा था। राजेंद्र सिंह उत्तराखंड के बडेना गांव के निवासी थे। वे 2016 में सेना में भर्ती हुए थे।

सेना के जवानों की शहादत पर देश में आक्रोश है। खासतौर पर ऐसे लोगों के खिलाफ नाराजगी है जो कश्मीर में पत्थरबाजों का समर्थन करते हुए उनके ​मानवाधिकारों की फिक्र करते हैं और उनका हक मांगने अदालतों में पहुंच जाते हैं। सोशल मीडिया पर यह आवाज बुलंद हो रही है कि पत्थरबाजों और आतंकियों के साथ और ज्यादा सख्ती बरती जाए।

ये भी पढ़िए:
– हो गया ऐलान, बिहार में जदयू और भाजपा बराबर सीटों पर लड़ेंगी लोकसभा चुनाव
– जिग्नेश मेवानी ने पार की बेशर्मी की हद, प्रधानमंत्री को कहा ‘नमक हराम’
– चाकू लेकर स्कूल में घुसी महिला ने किया हमला, 14 बच्चे घायल
– सूरत के हीरा व्यापारी ने फिर दिखाई ​दरियादिली, 600 कर्मचारियों को तोहफे में देंगे कार

LEAVE A REPLY