naxal attack dantewara
naxal attack dantewara

रायपुर। छत्तीसगढ़ में दिवाली के अगले ही दिन गुरुवार को नक्सलियों ने हमला किया। इसमें सीआईएसएफ का एक जवान शहीद हो गया। यह हमला दंतेवाड़ा के बचेली में हुआ। नक्सलियों ने विस्फोटक से एक बस को उड़ा दिया। इस हमले में चार स्थानीय नागरिक भी मारे गए हैं। इसके अलावा दो जवान घायल हो गए, जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस संबंध में बस्तर के आईजी वी. सिन्हा ने कहा है कि इससे सुरक्षाबलों का मनोबल प्रभावित नहीं होगा। आगामी विधानसभा चुनाव शांतिपूर्वक संपन्न कराए जाएंगे।

जानकारी के अनुसार, सीआईएसएफ के सात जवानों का दल मिनी बस में सवार था। यह बस आकाश नगर के लिए रवाना हुई थी। वापसी में इन जवानों को अपने साथियों के लिए बाजार से कुछ जरूरी सामान भी लेना था। उस समय बस आकाश नगर के 6 नंबर मोड़ पर पहुंची तो नक्सलियों ने आईईडी से धमाका कर दिया। इसके अलावा नक्सलियों ने गोलियां चलाईं।

बताया गया है कि इस दौरान नक्सलियों ने नारे लगाए और अंधाधुंध गोलियां चलाईं। यह हमला ऐसे समय में हुआ है जब शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जगदलपुर में चुनावी रैली को संबोधित करने आ रहे हैं। यह दंतेवाड़ा से ज्यादा दूर नहीं है। नक्सली पिछले दिनों भी दंतेवाड़ा में घातक हमले को अंजाम दे चुके हैं।

छत्तीसगढ़ में पहले चरण का मतदान 12 नवंबर को होना है। चुनावों से पूर्व नक्सलियों के हमले से स्थानीय लोगों को डराने की कोशिश की जा रही है। 30 अक्टूबर को नक्सलियों ने दंतेवाड़ा के अरनपुर थाना क्षेत्र में घात लगाकर हमला किया था। उसमें दो जवानों सहित तीन लोगों की मौत हो थी। उस हमले में दूरदर्शन के कैमरामैन अच्युतानंद साहू गंभीर रूप से घायल हुए थे, जिन्होंने बाद में दम तोड़ दिया। वीडियो पत्रकार मोरमुकुट शर्मा ने गोलियों के बीच अपनी मां के नाम एक संदेश रिकॉर्ड किया जो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था।

उससे पहले छत्तीसगढ़ के बीजापुर में नक्सलियों ने हमला कर सीआरपीएफ के चार जवानों को शहीद कर दिया था। वहां भी नक्सलियों ने आईईडी धमाका किया था। इस तरह के धमाकों से सुरक्षाबलों को गंभीर नुकसान पहुंचाया जाता रहा है। अब तक छत्तीसगढ़ में नक्सली आईर्इडी से कई बड़े हमले कर चुके हैं। अप्रेल 2010 में दंतेवाड़ा में नक्सलियों द्वारा किए गए एक धमाके में 76 जवान शहीद हो गए थे।

5 नवंबर को ओडिशा के मलकानगिरी में सुरक्षाबलों ने एक अभियान में पांच नक्सलियों को मार गिराया था। अब गुरुवार को नक्सलियों ने एक बार फिर हमला कर दंतेवाड़ा को दहला दिया। नक्सली पहले भी चुनावों का विरोध करते रहे हैं। इसके लिए वे धमकियां, हमले और कई हथकंडे अपना चुके हैं। छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनावों के ऐलान के बाद यहां नक्सलियों की ओर से पर्चे बांटे जाने की घटनाएं भी चर्चा में रही हैं।

ये भी पढ़िए:
– बांग्लादेश: 1971 के युद्ध में हिंदुओं की हत्या करने वाले दो कट्टरपंथियों को सजा-ए-मौत
– चीन से मदद मांगने इमरान पहुंचे बीजिंग, पाकिस्तानी चैनल ने लिखा भीख, खूब लगे ठहाके
– बिहार में छठव्रतियों को 6 हजार रु. मिलने की अफवाह, डाकघरों में उमड़ी भीड़ से कर्मचारी परेशान
– यूट्यूब पर धूम मचा रहा है आम्रपाली दुबे का यह वीडियो, छठ को है समर्पित

LEAVE A REPLY