नई दिल्ली। आमतौर पर चीन के बड़े अखबार भारत और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बारे में सकारात्मक लिखने से बचते हैं। अब चीन के सरकारी अखबार ‘ग्लोबल टाइम्स’ ने माना है कि मोदी सरकार आर्थिक सुधारों की दिशा में काम कर रही है। इसके अलावा अखबार ने विभिन्न विधानसभा चुनावों में भाजपा को मिली जीत के आधार पर इस बात का जिक्र किया है कि मोदी को भारतीय इतिहास के सबसे ज्यादा प्रभावशाली नेताओं में शुमार किया जा रहा है। ग्लोबल टाइम्स ने आर्थिक सुधारों को मोदी के शासन का सबसे महत्वपूर्ण पहलू माना है।

एक अंतरराष्ट्रीय शोधकर्ता माओ केजी ने यह लेख लिखा है। उन्होंने भारतीय मीडिया में इन दिनों छाए अन्य शब्दों का भी उल्लेख किया, परंतु सबसे ज्यादा आर्थिक मुद्दों को तरजीह दी है। अखबार कहता है कि यह समझना जरूरी है कि मोदी और उनकी नीतियों के बारे में भारतीय क्या विचार रखते हैं, क्योंकि देश का भविष्य इसी पर निर्भर करता है। उन्होंने सामाजिक और राजनीतिक विवादों को मुद्दा माना लेकिन उतना महत्वपूर्ण नहीं जितना कि आर्थिक मुद्दा है।

अखबार कहता है कि विवादों के बीच आर्थिक विकास का मुद्दा स्पष्ट दिखाई देता है। इसी वजह से इस पर काफी चर्चा होती है। लेख में कहा गया है कि कुछ लोग भले ही जीएसटी और नोटबंदी के फायदों पर संदेह जता रहे हैं, लेकिन इसके फायदे दीर्घकालिक हैं और इस कदम से अर्थव्यस्था ज्यादा कुशल और व्यवस्थित हुई है। लेख में यह भी कहा गया है कि ऐसे सुधारों के नुकसान तुरंत दिखाई दे जाते हैं। हालांकि फायदे मिलने में समय लगता है।

लेख में कहा गया है कि जीएसटी और नोटबंदी के कुछ फायदे अब दिखाई दे रहे हैं। अखबार ने आईएमएफ रिपोर्ट का हवाला दिया है जिसमें भारतीय अर्थव्यस्था के बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद जताई है। अखबार कहता है कि मोदी करिश्माई नेता हैं जो 2014 में सत्ता में आए। लेख में विकास की तेज गति के लिए बड़े सुधारों की जरूरत पर जोर दिया गया है। ग्लोबल टाइम्स ​ने डिजिटल इंडिया और देश में तेजी से बढ़े आॅनलाइन पेमेंट को अर्थव्यवस्था के लिए अच्छा माना है। कुल मिलाकर ग्लोबल टाइम्स मानता है कि मोदी सरकार द्वारा किए गए सुधार भविष्य में अर्थव्यवस्था के लिए बेहतर होंगे और उनका फायदा मिलेगा।

जरूर पढ़िए:
– 13 साल में ऐसे बदला ममता का नजरिया, तब घुसपैठ को बताया आपदा, लोकसभा में फेंके कागज
– वॉट्सअप के जरिए आईएसआई डाल रही युवाओं पर जाल, इन मैसेज से बना रही निशाना
– सरकारी बंगले में ‘तोड़फोड़’ से 10 लाख का नुकसान, अखिलेश से वसूली की तैयारी में योगी सरकार

LEAVE A REPLY