hungary pm
hungary pm

बुडापेस्ट/दक्षिण भारत। एक तरफ जहां भारत, बांग्लादेश और पाकिस्तान जैसे देश भारी जनसंख्या के दबाव का सामना कर रहे हैं, वहीं कई यूरोपीय देश घटती जनसंख्या से चिंतित हैं। इन्हीं में से एक है हंगरी, जहां बच्चों की तादाद इस कदर घटती जा रही है कि प्रधानमंत्री को अपील करनी पड़ी कि देश में आबादी बढ़नी चाहिए। इसके लिए हंगरी सरकार ने कई आकर्षक योजनाएं लागू की हैं।

हंगरी के प्रधानमंत्री विक्टर ऑर्बन चाहते हैं कि विदेशी अप्रवासियों पर देश की निर्भरता घटाई जाए। इसके लिए जरूरी है कि हंगरी की आबादी बढ़े। उन्होंने खासतौर से उन महिलाओं के लिए आकर्षक योजनाएं लागू की हैं जिनके ज्यादा बच्चे हैं। उन्होंने कहा कि जिन महिलाओं के चार या उससे ज्यादा बच्चे होंगे, उन्हें ज़िंदगीभर आयकर में छूट मिलेगी। यही नहीं, उन्हें कर्जमाफी का भी फायदा दिया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि हंगरी में कुछ खास देशों से अप्रवासियों के आने का स्थानीय लोग विरोध करते रहे हैं। वहां ऐसे कई संगठन हैं जो हंगरी मूल के लोगों के हितों की रक्षा के लिए इन अप्रवासियों पर पूरी तरह प्रतिबंध चाहते हैं। साथ ही हंगरी में बच्चों की घटती आबादी पर चिंता प्रकट कर सरकार से ऐसी नीतियां बनाने की मांग कर चुके हैं जिससे देश का भविष्य सुरक्षित बनाया जा सके।

एक रिपोर्ट के अनुसार, हंगरी में जनसंख्या बढ़ाने के लिए युवा जोड़ों को ब्याज मुक्त कर्ज के तौर पर 26 लाख रुपए दिए जाएंगे। उनके तीन बच्चे होते ही यह कर्ज माफ कर दिया जाएगा। इसके अलावा इन महिलाओं को आयकर एवं अन्य छूट का लाभ मिलता रहेगा। प्रधानमंत्री विक्टर ने देश में जनसंख्या बढ़ाने के लिए सात सूत्री योजना घोषित की है। इस घोषणा के बाद कई लोगों ने खुशी जताकर नीतियों का समर्थन किया।

LEAVE A REPLY