google plus
google plus

सैन फ्रांसिस्को। गूगल ने एक बड़ी घोषणा करते हुए कहा है कि उसने अपनी सोशल नेटवर्किंग साइट गूगल प्लस को बंद करने का फैसला किया है। साथ ही उसने बताया कि गूगल प्लस को बंद करने से पहले एक खास किस्म के बग को ठीक कर दिया गया है। इसकी वजह से करीब 5 लाख खातों में सेंध लगाई गई थी। गूगल का बयान ऐसे समय में आया है जब फेसबुक को लेकर यह खबर सुर्खियों में आ चुकी है कि उसके 5 करोड़ यूजर्स के डेटा में सेंध लगाई गई थी।

दुनिया की दिग्गज इंटरनेट कंपनी में शुमार गूगल ने जून 2011 में जब गूगल प्लस को लॉन्च किया था तो कई अखबारों में इसका जिक्र फेसबुक को कड़ी चुनौती देने वाले प्लेटफॉर्म के तौर पर हुआ था। हालांकि बाद में गूगल प्लस यूजर्स की उम्मीदों पर खरा नहीं उतरा। इस दौरान फेसबुक का और विस्तार होता गया। साथ ही वॉट्सअप काफी लोकप्रिय हो गया। अब कंपनी ने गूगल प्लस को बंद करने का फैसला ले लिया है।

इस संबंध में कहा गया है कि गूगल प्लस को यूजर्स की आशा के अनुरूप तैयार किया गया था, लेकिन इसका ज्यादा इस्तेमाल नहीं हो पाया। गूगल ने जिस बग को ठीक करने की बात कही है, उससे करीब 5 लाख खातों की निजी जानकारी में सेंध लगने का जिक्र है। रिपोर्टों के अनुसार, 2015 से 2018 के बीच एक सॉफ्टवेयर की गड़बड़ी की वजह से बाहरी डेवलपर्स ने प्रोफाइलों में सेंध लगाने की कोशिश की थी। बाद में गूगल ने उस बग को ठीक कर दिया।

इस समय कई देशों में डेटा लीक और निजता का मुद्दा छाया हुआ है। किसी भी वेबसाइट से यूजर्स का डेटा लीक होना कई खतरों को निमंत्रण दे सकता है। इससे बैंक फ्रॉड और दूसरी कई तरह की जालसाजियों को अंजाम दिया जा सकता है। साथ ही चुनाव प्रक्रिया के दौरान लोगों को प्रभावित करने के मामले भी चर्चा में रहे हैं। इसके अलावा आॅनलाइन धोखाधड़ी और ब्लैकमेलिंग तक के खतरे पैदा हो सकते हैं।

ये भी पढ़िए:
– भाजपा शासित इन तीन राज्यों में ऐसी थी 2013 के चुनावों की तस्वीर, क्या फिर दोहराएगी इतिहास?
– घर में रखे 78 हजार रुपए बच्चे के हाथ लगे तो कर दिए छोटे-छोटे टुकड़े, कारनामा वायरल
– नीरव मोदी ने कनाडा के युवक को लाखों डॉलर लेकर थमाया नकली हीरा, टूट गई सगाई
– मिसाइल यूनिट में काम कर रहा शख्स गिरफ्तार, पाक की आईएसआई को सूचना देने का आरोप

LEAVE A REPLY