बेंगलूरु/दक्षिण भारतस्थानीय विजयनगर तेरापंथ युवक परिषद (तेयुप) के ६४ सदस्यों ने चेन्नई में चातुर्मासार्थ विराजित आचार्यश्री महाश्रमणजी के अभिवंदना समर्पण और कृतज्ञता के भाव के साथ दर्शन कर उनका आशीर्वाद प्राप्त किया।आचार्यश्री के अल्ल सुबह दर्शन करने के साथ सभी सदस्यों ने भ्रमण में अपनी सेवाएं दी। व्याख्यान सभी ने अभिनव सामायिक का प्रयोग किया। परिषद अध्यक्ष दिनेश मरोठी ने परिषद की गतिविधियों की जानकारी आचार्यश्री को दी एवं श्री चरणों में परिषद सदस्यों द्वारा १०५५ त्याग-संकल्प का समर्पण किया। गुरुदेव ने अपने मुखारविंद से सभी को त्याग प्रत्याख्यान करवाएं एवं शनिवार सामायिक की प्रेरणा दी। तत्पश्चात साध्वीप्रमुखा श्री कनकप्रभाजी की सभी ने सेवा की। प्रमुखाश्रीजी ने बेंगलूरु पधारने तक सभी को पच्चीस बोल कण्ठस्थ करने की प्रेरणा दी एवं २५ युवकों की स्वयं परीक्षा लेने की कही। मुख्य मुनिश्री महावीरकुमारजी ने परिषद को समय प्रदान कर परिषद की गतिविधियों की जानकारी ली एवं त्याग समर्पण पत्र देखा और इस क्षेत्र में ओर आगे ब़ढने की प्रेरणा दी। साथियों के निवेदन पर मुख्य मुनि जी ने सभी को गीतिका सुनाकर कृतार्थ किया। परिषद ने मुनिश्री दिनेशकुमारजी, मुनिश्री योगेश कुमारजी से भी आशीर्वाद प्राप्त किया। परिषद संस्थापक अध्यक्ष सुशील चोरि़डया, राजेश चावत, विमल शामसुखा ने भी परिषद साथियों एवं परिषद की गतिविधियों की जानकारी मुनिश्री को प्रदान की एवं अपने विचार रखें। इस गुरुदर्शन संघ के सहयोगी मूलचंद मनीष कुमार बोथरा, राजेंद्र कुमार प्रवेश कुमार पिंचा, सागरमल बेगवानी परिवार थे। इस गुरुदर्शन संघ में परिषद संयोजकीय दायित्व पूर्व अध्यक्ष संयोजक महेंद्र टेबा, अभिषेक कावि़डया ने निभाया। सहमंत्री श्रेयांश गोलछा, मनीष बोथरा, कैलाश बोहरा, दिनेश चावत, हेमंत मेहता आदि सदस्यों का विशेष श्रम लगा।

LEAVE A REPLY