पोचफेस्ट्रूम। भारतीय महिला क्रिकेट टीम आईसीसी विश्वकप की स्टार खिला़डी हरमनप्रीत कौर की कप्तानी में मंगलवार से दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ शुरू हो रही पांच मैचों की टी-२० सीरी़ज में भी विजयी प्रदर्शन करने उतरेगी। भारत ने तीन मैचों की वनडे सीरी़ज मिताली राज की कप्तानी में २-१ से जीती थी जबकि टी-२० में टीम की कप्तानी बल्लेबा़ज हरमनप्रीत को सौंपी गई है जो गत वर्ष इंग्लैंड में आईसीसी महिला विश्वकप के दौरान सेमीफाइनल में अपनी बेहतरीन शतकीय पारी से रातों रात स्टार बन गई थीं। हरमनप्रीत के साथ टीम की उपकप्तान बल्लेबा़ज स्मृति मंधाना को बनाया गया है। भारतीय टीम विश्वकप के फाइनल तक पहुंची थी और उसकी टीम में बेहतरीन बल्लेबा़जों और गेंदबा़जों का क्रम है। हाल ही में मे़जबान दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरी़ज में भारतीय खिलाि़डयों ने हरफनमौला खेल से शुरूआती दो मैचों में ८८ और १७८ रन से जीत दर्ज की थी हालांकि वह आखिरी मैच हारकर क्लीन स्वीप से चूक गई थी।मंगलवार से शुरू हो रही टी-२० सीरी़ज में मेहमान टीम जीत के साथ पटरी पर लौटने और ब़ढत के साथ शुरूआत करने का प्रयास करेगी। टीम में अनुजा पाटिल, ऑलराउंडर राधा यादव और विकेटकीपर नु़जहत परवीन तीन नए चेहरे होंगे। इसके अलावा छोटे प्रारूप में मुंबई की जेमिमा रोड्रिग्ज को भी शामिल किया गया है। जेमिका केवल १७ वर्ष की हैं और अंडर-१९ टीम की ओर से उन्होंने २०२ रन की पारी से राष्ट्रीय टीम में जगह पक्की की है।भारतीय टीम में बल्लेबा़जों में निश्चित ही स्कोरर के तौर पर हरमनप्रीत पर काफी जिम्मेदारी होगी लेकिन ओपनिंग क्रम में मंधाना के अलावा दीप्ति शर्मा, मिताली, मध्यक्रम में वेदा कृष्णमूर्ति अहम होंगी। आखिरी वनडे में दीप्ति ने ७९ रन और वेदा ने ५६ रन की अहम अर्धशतकीय पारियां खेलकर कमान संभाली थी और टी-२० में भी अफ्रीकी गेंदबा़जों के सामने इसी प्रदर्शन को दोहराने की उम्मीद रहेगी। गेंदबाजों में अनुभवी झूलन गोस्वामी की भी अहम भूमिका रहेगी जिन्हें तीसरे वनडे में आराम दिया गया था। इसके अलावा एकता बिष्ट, शिखा पांडे और पूनम यादव भी विपक्षी बल्लेबा़जों पर दबाव बना सकती हैं लेकिन भारतीय महिलाओं को महंगी गेंदबाजी से बचना होगा।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY