मेलबोर्न। डेनमार्क की कैरोलीन वोज्नियाकी ने रोमानिया की सिमोना हालेप को शनिवार रोमांचक संघर्ष में ७-६, ३-६, ६-४ से हराकर ऑस्ट्रेलियन ओपन टेनिस टूर्नामेंट का खिताब अपने नाम कर लिया जो उनके करियर का पहला ग्रैंड स्लेम भी है। मेलबोर्न पार्क में यहां रॉड लेवर एरेना में खेले गए महिला एकल फाइनल मुकाबले में दूसरी रैंकिंग की वोज्नियाकी ने शीर्ष वरीय हालेप को हरा न सिर्फ खिताब जीता बल्कि डब्ल्यूटीए रैंकिंग में भी उन्हें अपदस्थ कर दुनिया की नंबर वन खिला़डी बन गईं। वोज्नियाकी ने वर्ष २०१२ में ऑस्ट्रेलियन ओपन में ही छह वर्ष पहले खोयी हुई अपनी शीर्ष रैंकिंग भी वापिस पा ली। हालेप के खिलाफ जीत दर्ज करने के साथ ही उन्होंने अपना रैकेट दूर फेंक दिया और ब्लू कोर्ट पर खुशी में लेट गईं। गर्मी और उमस में खेले गए इस मैच में वोज्नियाकी और हालेप दोनों ने ही पैरों में दर्द की शिकायत की। लेकिन दो घंटे ४९ मिनट के संघर्ष में डेनमार्क की खिला़डी विजयी रहीं।उपविजेता हालेप ने मैच के बाद कहा, मेरे लिए अभी बात करना आसान नहीं है लेकिन मैं कैरोलीन को बधाई देना चाहती हूं इस जबरदस्त खेल के लिए। मेरे लिए यह टूर्नामेंट कमाल का रहा। मैं जीत नहीं पाने पर दुखी हूं। वोज्नियाकी ने अपने तीसरे ग्रैंड स्लेम फाइनल में आखिरकार जीत का सूखा खत्म किया लेकिन हालेप को मेलबोर्न में तीसरी बार ग्रैंड स्लेम फाइनल में हार के साथ विदा होना प़डा। हालेप भी करियर के पहले मेजर खिताब के लिए खेल रही थीं।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY