नई दिल्ली। बेहतरीन फार्म में चल रहे भारत के शीर्ष क्रम के बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा मंगलवार को यहां श्रीलंका के खिलाफ फिरोजशाह कोटला पर तीसरे और अंतिम क्रिकेट टेस्ट के चैथे दिन २०१७ में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज बने। पुजारा ने सात रन बनाते ही दक्षिण अफ्रीका के डीन एल्गर को पीछे छो़डा जो उनसे पहले इस साल सर्वाधिक रन बनाने वालों की सूची में शीर्ष पर चल रहे थे। एल्गर ने इस साल १०९७ रन बनाए हैं। पुजारा ने मंगलवार को श्रीलंका के खिलाफ ४९ रन की पारी खेली और अब इस साल उनके नाम ११ टेस्ट में ६७.०५ की औसत से ११४० रन दर्ज हो गए हैं। पुजारा इस साल १००० रन पूरे करने वाले सिर्फ चार बल्लेबाजों में शामिल हैं। इस साल उनके और एल्गर के अलावा श्रीलंका के दिमुथ करूणारत्ने और भारतीय कप्तान विराट कोहली ने यह उपलब्धि हासिल की है। एल्गर और करूणारत्ने के पास हालांकि पुजारा को पीछे छो़डने का मौका होगा। करूणारत्ने को यहां श्रीलंका की ओर से दूसरी पारी में अभी खेलना है जबकि एल्गर को जिंबाब्वे के खिलाफ २६ से २९ दिसंबर तक होने वाले टेस्ट में यह मौका मिल सकता है।भारत के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन ने ६७ रन की अपनी पारी के दौरान टेस्ट क्रिकेट में २००० रन भी पूरे किए। वह प्रथम श्रेणी क्रिकेट में ८००० रन पूरे करने में भी सफल रहे। यह उनका ११५वां प्रथम श्रेणी मैच है।

नई दिल्ली। भारत लगातार नौ सीरी़ज जीतने के ऑस्ट्रेलिया के विश्व रिकार्ड की बराबरी करने से एक कदम दूर रह गया है। भारत ने ओपनर शिखर धवन (६७), कप्तान विराट कोहली (५०) और रोहित शर्मा (नाबाद ५०) के शानदार अर्धशतकों से अपनी दूसरी पारी मंगलवार को चौथे दिन पांच विकेट पर २४६ रन पर घोषित कर श्रीलंका के सामने तीसरे और अंतिम टेस्ट में जीत के लिए ४१० रन का लक्ष्य रखा। श्रीलंका ने इस लक्ष्य का पीछा करते हुए स्टम्प्स तक अपने तीन विकेट मात्र ३१ रन पर खो दिए। श्रीलंका को अभी जीत के लिए ३७९ रन और बनाने हैं जो उसके लिए बेहद मुश्किल काम बन चुका है और भारत को ऐतिहासिक जीत की सुगंध अभी से आने लगी है। श्रीलंका के गिरे तीन विकेटों में दो विकेट लेफ्ट आर्म स्पिनर और एक विकेट तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने लिया। जडेजा ने ओपनर दिमुथ करूणारत्ने (१३) और नाइट वाचमैन सुरंगा लकमल (शून्य) को आउट किया जबकि शमी ने सदीरा समरविक्रमा (पांच) को आउट किया। स्टम्प्स के समय धनंजय डी सिल्वा (१३) और एंजेलो मैथ्यूज खाता खोले बिना क्रीज पर थे। भारत को पहली पारी में १६३ रन की ब़ढत हासिल हुई थी और उसने अपनी दूसरी पारी पांच विकेट पर २४६ रन पर घोषित कर कोटला टेस्ट को पूरी तरह अपने नियंत्रण में ले लिया है। फिरो़जशाह कोटला मैदान में पिछले ३० वर्षों से अपराजित चल रहा भारत अब लगातार नौ सीरी़ज जीतने के ऑस्ट्रेलिया के विश्व रिकार्ड की बराबरी से एक कदम दूर है। ऑस्ट्रेलिया ने २००५ से २००८ तक लगातार नौ सीरी़ज जीतने का विश्व रिकार्ड बनाया था। भारत का सफर २०१५ में श्रीलंका को उसी की जमीन पर २-१ से मात देने के साथ शुरू हुआ था। भारत ने उसके बाद दक्षिण अफ्रीका को ३-० से, वेस्टइंडीज को २-० से, न्यूजीलैंड को ३-० से, इंग्लैंड को ४-० से, बांग्लादेश को १-० से, ऑस्ट्रेलिया को २-१ से और श्रीलंका को ३-० से हराया। भारत ने मौजूदा सीरी़ज में श्रीलंका को नागपुर के दूसरे टेस्ट में पारी और २३९ रन के रिकार्ड अंतर से मात दी थी और अब कोटला टेस्ट में भी उसने श्रीलंका के सामने बेहद मुश्किल लक्ष्य रख दिया है। भारत ने सुबह श्रीलंका को पहली पारी में ३७३ रन पर समेटने के साथ ही १६३ रन की भारी ब़ढत हासिल कर ली। भारत ने इसके बाद ते़ज गति से बल्लेबाजी की और ५२.२ ओवर में पांच विकेट पर २४६ रन जो़डे। ओपनर शिखर धवन ने अपने ३२वें जन्मदिन का जश्न १७६ मिनट क्रीज पर रहकर ९१ गेंदों का सामना करते हुए अर्धशतक जमा कर मनाया। उन्होंने अपनी पारी में पांच चौके और एक छक्का लगाया। कप्तान विराट कोहली ने अपनी जबरदस्त फार्म बरकरार रखते हुए मात्र ५८ गेंदों पर तीन चौकों की मदद से ५० रन की पारी खेली। उन्होंने इसके साथ ही सीरी़ज में ६०० रन भी पूरे कर लिए। विराट इस तरह तीन अलग-अलग सीरी़ज में ६०० रन बनाने वाले पहले भारतीय बल्लेबा़ज बन गए। रोहित शर्मा ने भी बेहतरीन बल्लेबाजी की और ४९ गेंदों में पांच चौके जमाते हुए नाबाद ५० रन बनाए।अजिंक्या रहाणे ने भी शानदार प्रदर्शन किया लेकिन वह मात्र एक रन से अपने अर्धशतक से चूक गए। पुजारा ने ६६ गेंदों में ४९ रन में पांच चौके लगाए। पहली पारी के शतकधारी मुरली विजय नौ रन और बल्लेबाजी क्रम में तीसरे नंबर पर भेेजे गए अजिंक्या रहाणे १० रन बनाकर आउट हुए। रवींद्र जडेजा चार रन पर नाबाद रहे।भारत ने सुबह के सत्र में दो विकेट, दोपहर के सत्र में दो विकेट और आखिरी सत्र में एक विकेट गंवाया। लंच तक भारत का स्कोर दो विकेट पर ५१ रन और चायकाल तक चार विकेट पर १९२ रन था। भारत ने दोपहर के सत्र में १४१ रन जो़डे और तीसरे सत्र में ४५ मिनट में ५४ रन जो़ड डाले। विराट ने अर्धशतक बनाने के बाद अपना विकेट गिरने के बावजूद पारी घोषित नहीं की और उन्होंने रोहित का अर्धशतक पूरा होने का इंतजार किया। जैसे ही रोहित ने अपना अर्धशतक पूरा किया विराट ने अपनी पारी घोषित करने का संकेत कर दिया।भारत ने श्रीलंका को पहली पारी में १३५.३ ओवर में ३७३ रन पर समेटने के बाद जब अपनी दूसरी पारी शुरू की तो उसे मुरली विजय के रूप में पहला झटका जल्द ही लग गया। विजय ने पहली पारी में १५५ रन बनाए थे लेकिन दूसरी पारी में वह तीसरे ओवर की पहली गेंद पर सुरंगा लकमल का शिकार बन गए। उन्होंने विकेटकीपर निरोशन डिकवेला को कैच थमा दिया। विजय ने १२ गेंदों में दो चौकों की मदद से नौ रन बनाए।अजिंक्या रहाणे को बल्लेबाजी क्रम में चेतेश्वर पुजारा की जगह तीसरे नंबर पर भेजा गया। टीम के उपकप्तान रहाणे पहली पारी में एक रन पर आउट हो गए थे और दूसरी पारी में उन्हें एक अच्छा मौका मिला लेकिन वह इसका फायदा नहीं उठा पाए। रहाणे नेे ऑफ स्पिनर दिलरूवान परेरा की गेंद पर एक अनावश्यक लंबा शॉट खेला और लांग ऑन पर लक्षण संदकन के हाथों लपके गए। उन्होंने ३७ गेंदों में दो चौकों के सहारे १० रन बनाए।लंच के बाद भारत ने अपना तीसरा विकेट पुजारा के रूप में गंवाया। पार्ट टाइम ऑफ स्पिनर धनंजय डीसिल्वा ने पुजारा को स्लिप में एंजेलो मैथ्यूज के हाथों कैच करा दिया। पुजारा मात्र एक रन से अपने अर्धशतक से दूर रह गए। भारत का तीसरा विकेट १०६ के स्कोर पर गिरा। शिखर को चाइनामैन गेंदबा़ज लक्षण संदकन ने विकेटकीपर निरोशन डिकवेला के हाथों स्टम्प करा दिया। शिखर ने संदकन को बाहर निकलकर मारने की कोशिश की और लाइन चूक गए।भारत का चौथा विकेट १४४ के स्कोर पर गिरा। विराट और रोहित ने पांचवें विकेट के लिए ९० रन की साझेदारी की। विराट अपना अर्धशतक पूरा करने के बाद लाहिरू गमागे को मारने के चक्कर में सुरंगा लकमल को कैच थमा बैठे। श्रीलंका के अधिकतर फील्डरों ने दूसरी पारी में भी मास्क लगाकर क्षेत्ररक्षण किया।भारत का पांचवां विकेट २३४ के स्कोर पर गिरा और कप्तान विराट ने २४६ के स्कोर पर पारी घोषित कर दी। श्रीलंका की ओर से सुरंगा लकमल, लाहिरू गमागे, दिलरूवान परेरा, धनंजय डीसिल्वा और संदकन ने एक एक विकेट लिया।इससे पहले सुबह श्रीलंका ने नौ विकेट पर ३५६ रन से आगे खेलना शुरू किया और उसकी पहली पारी ३७७ रन पर समाप्त हुई। श्रीलंका के कप्तान दिनेश चांडीमल ने १४७ रन से आगे खेलते हुए १६४ रन बनाए। ते़ज गेंदबा़ज इशांत शर्मा ने चांडीमल को शिखर के हाथों कैच कराकर श्रीलंकाई पारी १३५.३ ओवर में समेट दी।चांडीमल ४७२ मिनट क्रीज पर रहे। उन्होंने ३६१ गेंदों का सामना किया और अपनी पारी में २१ चौके और एक छक्का लगाया। दूसरे छोर पर संदकण शून्य पर नाबाद पवेलियन लौटे। भारत की ओर से इशांत शर्मा ने २९.३ ओवर में ९८ रन पर तीन विकेट, रविचंद्रन अश्विन ने ३५ ओवर में ९० रन पर तीन विकेट, मेाहम्मद शमी ने २६ ओवर में ८५ रन पर दो विकेट और रवींद्र जडेजा ने ४५ ओवर में ८६ रन पर दो विकेट लिए। भारत के नए रिकार्ड पुरुष बनते जा रहे कप्तान विराट कोहली तीन अलग-अलग सीरी़ज में ६०० रन बनाने वाले पहले भारतीय बल्लेबा़ज बन गए हैं। विराट ने श्रीलंका के खिलाफ यहां फिरो़जशाह कोटला मैदान में पहली पारी में २४३ रन बनाए थे और दूसरी पारी में उन्होंने ५० रन बनाने के साथ ही यह उपलब्धि अपने नाम कर ली। विराट के शानदार करियर में यह तीसरा मौका है जब उन्होंने एक सीरी़ज में ६०० रन पूरे किए हैं। इस सीरी़ज में उनके ६१५ रन हो गए हैं। विराट ने कोलकाता के पहले टेस्ट में पांच और नाबाद १०४ रन, नागपुर में दूसरे टेस्ट में २१३ रन और फिरोजशाह कोटला के तीसरे टेस्ट में २४३ रन और ५० रन बनाए हैं। इस मैच के दोहरे शतक के साथ विराट ने कप्तान के रूप में छह दोहरे शतक का विश्व रिकार्ड पहले ही बना लिया था। विराट ने इससे पहले २०१४-१५ में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ६९२ रन और २०१६-१७ में इंग्लैंड के खिलाफ ६५५ रन बनाए थे। भारतीय टेस्ट इतिहास में सुनील गावस्कर और राहुल द्रवि़ड इससे पहले ऐसे दो खिला़डी थे जिन्होंने दो बार यह कारनामा किया।

LEAVE A REPLY