नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के धुरंधर आलराउंडर युवराज सिंह ने कहा है कि उनमें अभी कुछ क्रिकेट बाकी है और जब वह संन्सास लेंगे तो अपने शर्तो पर ही लेंगे। ३६ साल के युवराज भारत के लिए अब तक ४० टेस्ट, ३०४ वनडे और ५८ ट्वंटी-२० अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच खेल चुके हैं जिनमें उन्होंने क्रमश: १९००, ८७०१ और ११७७ रन बनाए हैं। युवराज ने अपना आखिरी ट्वंटी-२० मैच फरवरी २०१७ में इंग्लैंड के खिलाफ और वनडे जून २०१७ में वेस्टइंडीज के खिलाफ खेला था। युवराज ने स्पोर्ट्सस्टार से कहा, मैं किसी पछतावे के साथ संन्यास नहीं लेना चाहता और अगले कुछ साल और खेलना चाहता हूं। मैं तभी संन्यास लूंगा जब मुझे लगेगा कि क्रिकेट छो़डने का यही समय है। जब मुझे लगेगा कि मैंने अपना सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट खेल लिया है और इससे ज्यादा अच्छा मैं नहीं खेल पाऊंगा तब मैं संन्यास ले लूंगा। मैं इसलिए अभी भी खेल रहा हूं क्योंकि मैं अभी क्रिकेट का पूरा लुत्फ उठा रहा हूं। इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की फ्रेंचाइजी किंग्स इलेवन पंजाब ने लीग के ११वें संस्करण के लिए युवराज को दो करो़ड रुपए में अपनी टीम में खरीदा है। युवराज २०१५ में १६ करो़ड और २०१७ में सात करो़ड रुपए में बिके थे। वर्ष २०११ के विश्वकप में मैन आफ द टूर्नामेंट रहे आलराउंडर ने कहा, मुझे लगता है कि मैं अभी दो-तीन और आईपीएल खेल सकता हूं। मेरा अभी तक का सफर अच्छा रहा है। कैंसर की जंग जीतने वाले युवराज ने कहा, मैं मुश्किलों से कभी नहीं डरा और विपरीत परिस्थितियों में भी हिम्मत नहीं हारी। मैं चाहता हूं लोग मुझे उस इंसान के तौर पर जाने जिसने कभी हार नहीं मानी।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY