* प्याज को पीसकर पैरों की बिवाइयों में भर देने से बिंवाई फटनी बंद हो जाती है।* पेट दर्द होने पर थो़डी से हींग एक ब़डे चम्मच पानी में उबाल कर नाभि में लगाने से आराम मिलेगा।* कच्ची गाजर खाने से कब्ज दूर होती है तथा आंतों के की़डे मर जाते हैं।* प्याज को सूंघने से नकसीर बंद हो जाती है।* प्रतिदिन रात को सोने से पहले चुटकी भर अजवाइन खाते रहने से कब्ज दूर होती है।* थो़डा सा जीरा और थो़डी सी मिश्री कूट कर मुंह में रखिए। दो तीन दिन ऐसा करने से मुंह के छाले ठीक हो जाते हैं।* एक चम्मच जीरे में एक चुटकी लौंग का चूर्ण मिलाकर शहद के साथ लेने से खांसी रुक जाती है।* लकवे के मरीज यदि सरसों के तेल की नियमित मालिश करें तो कुछ ही समय में वह फायदा महसूस करेंगे।* तुलसी की पत्तियों का रस अथवा अदरक के रस के साथ पीने से कफ की शिकायत दूर होती है।* कच्ची निबोली का गूदा आँखों में लगाने से रतौंधी दूर होती है।* बची हुई चाय की पत्तियों को छाया में सुखा लें। सूखने के बाद उन्हें पानी में अच्छी तरह उबाल लें और बाल धोएं। बाल मजबूत और चमकदार बनेंगे।* चमेली का मूल उबटन में मिलाकर या अकेले लगाने से मुख के तेज कांति में वृद्धि होती है।* इसके फूलों का लेप आँखों पर करने से नेत्र विकार दूर होते हैं।* चमेली के तेल की मालिश सिरदर्द में अति हितकारी है।

LEAVE A REPLY