pm narendra modi
pm narendra modi

वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को वाराणसी में कई परियोजनाओं का शुभारंभ किया। मोदी ने कहा है कि यह तो अभी झांकी है। सोमवार को यहां अपना 68वां जन्मदिन मनाने आए प्रधानमंत्री मोदी के कई कार्यक्रम थे जिनमें वे काफी व्यस्त रहे। इस दौरान उन्होंने काशीवासियों को करोड़ों रुपए की विकास योजनाओं की सौगात दी है। इस अवसर पर मोदी ने पिछले चार वर्षों में काशी में किए विकास कार्यों का विवरण दिया। उन्होंने कहा कि काशी बदल रही है और पूरा विश्व इस परिवर्तन को देख रहा है।

प्रधानमंत्री ने काशी के लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि बतौर सांसद अपने काम की रिपोर्ट देना मेरा दायित्व है। उन्होंने कहा कि जो मैंने बताया वह मेरे काम की छोटी-सी झलक है। उन्होंने जनता से कहा कि आप मेरे मालिक और हाई कमान हैं और मैं पाई-पाई का हिसाब दूंगा। मोदी ने 550 करोड़ रुपए से ज्यादा की विकास परियोजनाओं का लोकार्पण या शिलान्यास किया है। इन परियोजनाओं का ताल्लुक आसपास के गांवों से भी है।

प्रधानमंत्री मोदी ने आधुनिकता और परंपरागत पहचान के साथ काशी के विकास पर बल दिया। उन्होंने कहा कि पिछले चार वर्षों में यहां काफी काम हुआ है। अब यहां विकास को नई दिशा दी जा रही है। मोदी ने पहले शहर में लटकते बिजली के तारों का जिक्र करते हुए कहा कि अब वे नहीं दिखते। उन्होंने कहा कि काशी को पूर्वी भारत के गेटवे के तौर विकसित किया जा रहा है। अब यह एलईडी बल्ब से रोशन हो रही है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि वाराणसी शहर के अलावा निकटवर्ती गांवों को भी पानी, बिजली, सड़क जैसी सुविधाएं मिल रही हैं। उन्होंने बताया कि नागेपुर गांव को विकसित करने का जिम्मा उन पर था, वहां पानी के प्रोजेक्ट का लोकार्पण किया गया। मोदी ने कहा कि सभी लोग नई काशी और नए भारत के निर्माण में योगदान दें।

प्रधानमंत्री मोदी ने हवाई सफर कर वाराणसी आने वाले लोगों के लिए कहा कि इसमें खूब बढ़ोतरी हो रही है। चार साल पहले 8 लाख लोग यहां आते थे। अब यह तादाद 21 लाख तक जा पहुंची है। वाराणसी में अगले साल होने वाले प्रवासी भारतीय दिवस के आयोजन को लेकर मोदी ने कहा​ कि यह दुनियाभर में बसे भारतीयों का कुंभ है। प्रधानमंत्री ने गंगा की सफाई से जुड़ी परियोजनाओं के बारे में कहा कि इसके लिए 21 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा की मंजूरी मिल चुकी है। अब गंगोत्री से लेकर गंगा सागर तक सफाई का काम चल रहा है। प्रधानमंत्री का यह भाषण सोशल मीडिया पर काफी चर्चा में रहा।

ये भी पढ़िए:
– चीन से मदद ले रहे देशों पर सेना प्रमुख का बयान- ‘मुफ्त में कुछ नहीं मिलता, जल्द होगा अहसास’
– नटवर सिंह ने किताब में बताया, इंदिरा गांधी ने की थीं अपनी ज़िंदगी में ये 2 बड़ी गलतियां
– रेल के एसी कोच में बेडरोल खोलते ही निकला सांप, घबराए यात्रियों में मची भगदड़
– उइगर महिला की आपबीती पढ़कर खड़े हो जाएंगे रोंगटे, चीन में मुसलमानों पर हैं ये पाबंदियां

LEAVE A REPLY