बेंगलूरु। विधानसभा में एक वरिष्ठ कांग्रेस सदस्य द्वारा ‘न्यायिक विद्रोह’’ कहकर एक टिप्पणी करते हुए उसे भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाहसे जो़डने पर मुख्य विपक्षी दल भाजपा ने सदन में जोरदार विरोध किया। पार्टी ने यह भी मांग की कि के कांग्रेस सदस्य के.एन. राजन्ना की टिप्पणी रिकॉर्ड से हटा दी जाए। राज्यपाल के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर बोलते समय राजन्ना ने यह टिप्पणी की थी। कांग्रेस के सदस्य भाजपा पर हमला करते हुए कहा कि सीबीआई के विशेष न्यायाधीश बी एच लोया की मौत, जो सोहराबुद्दीन मुठभे़ड मामले की सुनवाई कर रहे थे, से संबंधित मामले की सुनवाई कर रही पीठ में हुए बदलावों के कारण न्यायपालिका परेशानी में है।उन्होंने कहा, भाजपा ने इस देश में एक नया रिकॉर्ड बनाया है। भाजपा शासन काल में ऐसी स्थिति बन गई है जहां न्यायाधीशों को प्रेस कॉन्फ्रेंस करना प़ड रहा है। उन्होंने न्यायिक विद्रोह किया। यह सब इसलिए हुआ क्योंकि न्यायाधीश लोया की मौत की मामले की सुनवाई कर रही पीठ को बदला गया और लोया ही वह न्यायाधीश थे जो भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष से जु़डे मामले की सुनवाई कर रहे थे। भाजपा ने राजन्ना की इस टिप्पणी पर गंभीर आपत्ति जताई और जानना चाहा कि राज्यपाल के अभिभाषण के साथ इस मुद्दे का जब कोई संबंध नहीं था तब इसे यहां क्यों उठाया गया और उसमें भी उस व्यक्ति का नाम लिया जा रहा है जो सदन में उपस्थित नहीं है। विपक्ष के नेता जगदीश शेट्टर ने यह मुद्दा उठाया और अध्यक्ष से इस पर फैसले की मांग की। हालांकि डिप्टी स्पीकर शिवशंकरा रेड्डी ने कहा कि वे मामले पर अपना फैसला सुरक्षित रखते हैं। इसी दौरान राजन्ना ने भाजपा पर फिर हमला बोला और कहा कि उन्होंने किसी भी व्यक्ति का नाम नहीं लिया था। वे यहीं नहीं रुके, उन्होंने कहा, आपको नियम जानने की क्या जरुरत है जब आप संविधान बदलना चाहते हैं? (उन्होंने केन्द्रीय मंत्री अनंत कुमार हेग़डे के बयान का हवाला दिया। )द्नय्ज्झ्य् द्मष्ठ फ्य्थ्य् द्यय्ब्रुय ृय्स्द्य फ्ह्यद्मद्भय् झ्द्य ्यद्मप्रय्य्द्मय्शेट्टर ने कहा, अगर आप किसी ऐसे व्यक्ति की बात कर रहे हैं जो सदन में मौजूद नहीं है और आरोप लगा रहे हैं, तो हम यह भी कह सकते हैं कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी हेराल्ड मामले में जमानत पर हैं। वहीं राजन्ना ने अपने भाषण के दौरान यह भी हवाला देने की कोशिश की कि प्रधानमंत्री बनने के पूर्व नरेन्द्र मोदी को अमेरिका ने वीजा देने से इंकार कर दिया था। इस पर प्रतिक्रिया देते हुए, भाजपा विधायक सी टी रवि ने कहा कि अब वही अमेरिका उसी व्यक्ति के लिए लाल कालीन बिछाकर स्वागत कर रहा है।

LEAVE A REPLY