बेंगलूरु/दक्षिण भारतकेंद्र में कांग्रेस की अगुवाई वाले संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) की सरकार के कार्यकाल में प्रधानमंत्री के तकनीकी सलाहकार रहे सैम पित्रोदा का कहना है कि कर्नाटक चुनाव के नतीजे कांग्रेस के लिए एक पायदान की तरह होंगे। वर्ष २०१९ में प्रस्तावित लोकसभा चुनाव में केंद्र की सत्ता से भाजपा को बाहर कर कांग्रेस की सरकार गठित करने में यह चुनाव महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। वह शनिवार को यहां कांग्रेस का चुनाव घोषणापत्र जारी करने के लिए आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इससे पहले पार्टी का घोषणापत्र अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को मेंगलूरु में जारी कर दिया था। पित्रोदा ने अपने संबोधन में कहा कि कर्नाटक चुनाव के बाद इसी वर्ष तीन भाजपा-शासित राज्यों में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। इन चुनावों के बाद वर्ष २०१९ में लोकसभा चुनाव प्रस्तावित है। उन्होंने कांग्रेस कार्यकर्ताओं से अपील की कि वह कांग्रेस पर जनता के भरोसे को बनाए रखने के लिए लगातार काम करते रहें। पित्रोदा ने कहा, कर्नाटक में चुनाव जीतने के बाद हम यहां के युवा वर्ग को उनका अधिकार देंगे। पार्टी ने अपने घोषणापत्र में सत्ता में आने पर दस लाख नए रोजगार के अवसर उत्पन्न करने का वादा किया है। इसके साथ ही नई पी़ढी के उद्यमियों और स्टार्टअप कंपनियों को आगे ब़ढने का बेहतरीन मौका उपलब्ध करवाया जाएगा।’’ इससे पूर्व बेंगलूरु के लिए कांग्रेस के घोषणापत्र को भी पित्रोदा ने ही जारी किया। वह इस घोषणापत्र को अंतिम रूप देने के लिए गठित समिति के अध्यक्ष भी हैं। पित्रोदा ने घोषणापत्र जारी करते हुए कहा कि बेंगलूरु ने दुनिया की दूसरी सिलिकॉन सिटी के रूप में अपनी पहचान कायम कर ली है और इसे अपनी नई सोच और तकनीकी ताकत का प्रयोग करते हुए शहरी गरीबों की समस्याओं को सुलझाने का प्रयास करना चाहिए। अमेरिका की सिलिकॉन वैली के पास ऐसा कुछ करने का मौका नहीं है। यूरोपीय संघ और अमेरिका से इतर अन्य विकसित देशों में बेंगलूरु को उदाहरण माना जाता है। उन्होंने याद किया कि उनकी कोशिशों से भारत में स्थापित सेंटर फॉर डेवलपमेंट ऑफ टेलीमैटिक्स (सी-डॉट) ने इस शहर को एक तकनीकी आधार दिया और देश में दूरसंचार तकनीक के क्षेत्र में क्रांति की शुरुआत इसी शहर से हुई। इस शहर से स्थानीय स्तर पर काम करने वाली इन्फोसिस और विप्रो जैसी कंपनियों को विशालकाय वैश्विक कंपनियों का रूप लेते हुए देखा है। पित्रोदा ने भाजपा और जनता दल (एस) पर कांग्रेस के खिलाफ झूठा प्रचार करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि इन पार्टियों ने मीडिया के माध्यम से अपने झूठ फैलाए। १२ मई को होने वाले चुनाव में इन दोनों की हार सुनिश्चित की जानी चाहिए। उन्होंने कहा, चुनाव के दिनों में झूठ काफी आसानी से बिक जाता है। सोशल मीडिया के माध्यम से झूठ को कई गुणा ब़ढा-च़ढाकर बताया जाता है। लोग झूठ का सहारा लेकर साइबर दीवारों के पीछे छुप जाते हैं। सो, कांग्रेस के समर्थकों के लिए यह महत्वपूर्ण है कि वह अपने व्यक्तिगत संबंधों और जनसभाओं के मंचों के जरिए आम जनता तक पहुंचें और उन्हें सच्चाई से अवगत कराएं। उन्होंने बताया कि चुनाव जीतने के लिए बूथ स्तर पर कार्यकर्ताओं की अधिक सक्रियता की जरूरत है। गौरतलब है कि यही संदेश प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी कर्नाटक में भाजपा पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं के साथ अपने संवाद में दिया है।

LEAVE A REPLY