मैसूरु/दक्षिण भारतआगामी १२ मई को होने जा रहे कर्नाटक विधानसभा चुनाव के मैदान में सबसे अधिक १५ पूर्व मंत्री पुराने मैसूरु क्षेत्र से अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। यह पूर्व मंत्री मैसूरु, मंड्या, रामनगर, हासन, कोडगु और चामराजनगर सीटों से अपनी किस्मत का ताला खुलने की आस संजोए हुए हैं। यह सभी सीटें पुराने मैसूरु विधानसभा क्षेत्र में आती हैं। यहां चुनावी हो़ड में शामिल १५ पूर्व मंत्रियों में से ९ कांग्रेस के हैं्। इनमें खुद मुख्यमंत्री सिद्दरामैया भी शामिल हैं, जो चामुंडेश्वरी से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव ल़डेंगे। वहीं, पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने एक ही साथ रामनगर और चन्नपटना से पर्चा भरा है। जनता दल (एस) के एक पूर्व मंत्री और विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष बोपन्ना कोडगु जिले की विराजपेट सीट से चुनाव मैदान में हैं। गौरतलब है कि चामुंडेश्वरी सीट पर चुनावी किस्मत आजमा रहे सिद्दरामैया कांग्रेस को चुनावी जीत मिलने की स्थिति में दोबारा मुख्यमंत्री बन सकते हैं। वह इसी सीट पर कुल सात चुनावी बाजी ल़ड चुके हैं, जिनमें से पांच बाजियों में सिद्दरामैया को ही जीत मिली थी। वहीं, इस बार के चुनाव में पूर्व मंत्री और अपने ही पुराने करीबी मित्र जीटी देवेगौ़डा से उन्हें तीखी चुनौती मिल रही है, जो जनता दल (एस) के प्रत्याशी हैं। मैसूरु की नरसिंहराज सीट पर पूर्व मंत्री तनवीर सेठ कांग्रेस के प्रत्याशी हैं, जबकि दो मंत्री एचसी महादेवप्पा टी नरसीपुर से और वेंकटेश पेरियापटना से कांग्रेस प्रत्याशियों की सूची में स्थान बनाने में कामयाब हुए हैं। तंबाकू के उत्पादन के लिए जाने जाते रहे पेरियापटना क्षेत्र से वह पहली बार अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। बताया जाता है कि मुख्यमंत्री सिद्दरामैया उन्हें अपना पूरा समर्थन दे रहे हैं।उधर, भाजपा नेता एसए रामदास ने इसी जिले की कृष्णराज सीट पर अपना दांव लगाया है। वह यहां चौथी बार चुनावी दौ़ड में हिस्सा ले रहे हैं। उनके सामने नौ निर्दलीय प्रत्याशियों समेत कुल १८ प्रतिद्वंद्वियों पर भारी प़डने की चुनौती है। चामराजनगर जिले में पूर्व मंत्री स्व. एचएस महादेव प्रसाद की पत्नी गीता महादेव प्रसाद को कांग्रेस ने अपना टिकट दिया है। पिछले वर्ष महादेव प्रसाद का निधन हो गया था। बहरहाल, कर्नाटक की चीनी का कटोरा कही जाने वाली मंड्या सीट पर पूर्व केंद्रीय मंत्री एमएच अंबरीश की जगह कांग्रेस ने इस वर्ष एक नए चेहरे को आजमाया है। इस जिले की नागमंगला सीट से पूर्व मंत्री और जनता दल (एस) छो़डकर कांग्रेस की सदस्यता लेने वाले चलुवरायस्वामी तीसरी बार जीत की उम्मीदों के साथ मैदान में आ चुके हैं। इन सबके बीच पूर्व में कांग्रेस छो़डकर बीएस येड्डीयुरप्पा की अगुवाई वाली केजेपी की सदस्यता लेने वाले पूर्व महिला और बाल कल्याण मंत्री पीएम नरेंद्रस्वामी अब दोबारा कांग्रेस में लौट आए हैं्। वर्ष २०१३ के विधानसभा चुनाव में उन्होंने अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित मलवल्ली सीट पर जीत हासिल की थी।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY