बेंगलूरु/ दक्षिण भारतभारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह ने दोहराया है कि कर्नाटक विधानसभा के चुनाव में अगर पार्टी जीतती है तो बीएस येड्डीयुरप्पा ही राज्य के अगले मुख्यमंत्री बनेंगे। उन्होंने मीडिया के एक हिस्से में जताए जा रहे इस संदेह को सिरे से खारिज कर दिया है कि पार्टी चुनाव के बाद इस कद्दावर लिंगायत नेता को परे खिसकाकर किसी अन्य नेता को राज्य में सत्ता की कमान सौंप सकती है। शाह रविवार को मध्य कर्नाटक के चुनाव प्रचार दौरे से लौटने के बाद सोमवार को यहां पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा, ’’येड्डीयुरप्पा को पार्टी ने अपना मुख्यमंत्री प्रत्याशी घोषित किया है। विधानसभा चुनाव के बाद वही राज्य की सत्ता संभालेंगे। भाजपा के कुछ विरोधियों ने इस बात की अफवाह फैलाई है कि येड्डीयुरप्पा को मुख्यमंत्री की कुर्सी नहीं दी जाएगी। यह गलत है और येड्डीयुरप्पा ही राज्य में पार्टी के नेता बने रहेंगे।’’शाह ने येड्डीयुरप्पा को धोखा देने की मंशा के बारे में आई रिपोर्ट्स को निराधार और काल्पनिक मानते हुए कहा कि पार्टी उन्हें अपना मुख्यमंत्री प्रत्याशी घोषित कर चुकी है। अगर भाजपा अपने कहे पर कायम नहीं रही तो इसकी विश्वसनीयता पर सवालिया निशान लग जाएगा। उन्होंने कहा, ’’कर्नाटक में भाजपा की लहर चल रही है। यहां कांग्रेस के समर्थन का कहीं कोई संकेत तक नहीं है।’’ वहीं, शाह ने एक प्रश्न के उत्तर में कहा कि वरुणा सीट से बीएस येड्डीयुरप्पा के पुत्र बीवाई विजयेंद्र को पार्टी का प्रत्याशी न बनाए जाने का निर्णय सामूहिक फैसला था। चूंकि भाजपा ने कर्नाटक की सत्ता में वापसी करने के लिए कांग्रेस की वंशवादी राजनीति के खिलाफ निर्णायक जंग छे़ड रखी है इसलिए यह निर्णय सही था। उन्होंने इसके साथ ही आश्वासन दिया कि विजयेंद्र को पार्टी संगठन में अधिक महत्वपूर्ण पद सौंपा जाएगा और उनका राजनीतिक भविष्य भी काफी उज्ज्वल है। उन्होंने विजयेंद्र के समर्थकों के मन में उठ रहे इस संदेह को यह कहते हुए दरकिनार कर दिया कि युवा वर्ग लगातार और ब़डी संख्या में भाजपा से जु़ड रहा है। उन्हें कर्नाटक में बनने वाली भविष्य की भाजपा सरकार में काफी सार्थक भूमिका दी जाएगी।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY