बेंगलूरु/दक्षिण भारत/एजेन्सीकर्नाटक में १५वीं विधानसभा के लिए आज हुए मतदान के बाद सामने आए विभिन्न एक्जिट पोल में भारतीय जनता पार्टी को भारी फायदा हो रहा है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के धुआंधार चुनाव प्रचार का करिश्मा नजर आ रहा है। लगभग सभी एक्जिट पोल में भारतीय जनता पार्टी को इस चुनाव में सबसे ब़डी पार्टी के रूप में उभरकर आने का अनुमान व्यक्त किया गया है। पांच एक्जिट पोल में भाजपा को १०० से ज्यादा सीटों पर जीतने का अनुमान व्यक्त किया गया है। पिछले चुनाव के मुकाबले पार्टी को ढाई गुना से ज्यादा सीटों का फायदा दिखाया गया है। पार्टी के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार बीएस येड्डीयुरप्पा ने पिछला चुनाव अपनी अलग पार्टी बनाकर ल़डा था। इसी तरह से भाजपा सांसद बी श्रीरामुलू भी वर्ष २०१३ में अलग पार्टी बनाकर चुनाव मैदान में उतरे थे जिसका भाजपा को भारी खामियाजा भुगतना प़डा था और उसे सिर्फ ४० सीटों पर जीत हासिल हुई थी। इस बार पार्टी ने येड्डीयुरप्पा के नेतृत्व में चुनाव ल़डा है।राज्य विधानसभा की २२४ में से २२२ के लिए शनिवार को मतदान हुआ है और सरकार बनाने के लिए किसी भी दल को ११२ विधायकों की आवश्यकता है। ज्यादातर एक्जिट पोल के अनुसार किसी दल को स्पष्ट बहुमत मिलता नजर नहीं आ रहा है इसलिए पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौ़डा के पुत्र एचडी कुमारस्वामी के नेतृत्व वाली जनता दल-एस की सरकार के गठन में अहम भूमिका हो सकती है। चाणक्य-टाइम्सनाउ के सर्वेक्षण के अनुसार इस चुनाव में भाजपा को स्पष्ट बहुमत मिल रहा है और उसे १२० सीटों पर जीत हासिल हो रही है। उसके सर्वे में कांग्रेस को भारी नुकसान हो रहा है और उसकी सीटें १२२ से घटकर सिर्फ ७३ पर खिसक रही है जबकि जनता दल को २६ सीटें मिल रही हैं। जद-एस ने पिछली बार विधानसभा की ४० सीटों पर जीत हासिल की थी। न्यूजनेशन ने भाजपा को १०७ सीटों पर जीतते हुए दिखाया है जबकि सीएनएक्स ने १०६, जन की बात ने १०५ तथा सी वोटर ने १०३ सीटें दी हैं। न्यूज १८ ने भाजपा को १०२ से ११० सीटों पर जीत हासिल करते हुए दिखाया है। एक्सिस माई इंडिया ने कांग्रेस को १११ सीटें दी हैं जबकि भाजपा को ८५ और जद एस को २६ सीटें दी हैं। सीवोटर ने भाजपा को सबसे ब़डी पार्टी बताया है और कहा है कि उसे १०३ सीटों पर जीत हासिल होगी। कांग्रेस ९३ सीटों के साथ दूसरे स्थान पर रहेगी जबकि जदएस को २५ सीटें मिलेंगी। एनडीटीवी के एक्जिट पोल में भाजपा और कांग्रेस के बीच कांटे की टक्कर बतायी गयी है और दोनों को ९४-९४ सीटों पर जीत हासिल होने का अनुमान लगाया गया है। पोल्स ऑप पोल्स के सर्वेक्षण में भाजपा को ९९ सीटें, कांग्रेस को ८८ सीटें और जद-एस को ३३ सीटों पर जीतते दिखाया गया है। टाइम्स नाउ वीएमआर के एक्जिट पोल के अनुसार इस बार कांग्रेस का वोट प्रतिशत बढा है लेकिन उसकी सीटें घट रही हैं। जनता दल एस को मतप्रतिशत के हिसाब से इस बार घाटा हो रहा है। भाजपा को पिछले चुनाव में सिर्फ २०.७ प्रतिशत मत मिले थे जो इस बार बढकर ३४.६ प्रतिशत तक पहुंच गए हैं। जद-एस का प्रतिशत भी घटा है और उसे इस बार १९.८ प्रतिशत वोट मिले हैं जबकि पिछली बार उसका मतदान प्रतिशत २०.१९ था।स्थानीय न्यूज चैनल प्रांजन ने भाजपा को पिछली बार के मुकाबले भारी ब़ढत के साथ १०२ से ११० सीटों पर जीत हासिल करते दिखाया है जबकि कांग्रेस को ६० से ८० और जद-एस के खाते में २२ से ३० सीटें दिखायी हैं। इसी तरह से न्यूज नेशनल ने १०५ से १०९ सीटों पर भाजपा की जीत दिखायी है। सुवर्ण न्यूज चैनल ने कांग्रेस को सबसे ब़डी पार्टी के रूप में उभरने का अनुमान व्यक्त किया है। उसके सर्वें में कहा गया है कि पार्टी को १०६ से ११८ सीटें मिल सकती हैं। भाजपा के खाते में उसके सर्वे के अनुसार ७९ से ९२ सीटें आ रही हैं्। चैनल ने जद-एस के खाते में २२ से ३० सीटें तक आने का अनुमान व्यक्त किया है। भाजपा को एक्जिट पोल के अनुसार यदि जीत हासिल होती है तो इसे श्री मोदी के धुआंधार चुनाव प्रचार का करिश्मा ही माना जाएगा। श्री मोदी की रैली में अथाह भी़ड उम़ड रही थी और उन्होंने इस जन सैलाब को देखते हुए जगह-जगह टिप्पणी की थी कि कर्नाटक में भाजपा की हवा नहीं आंधी चल रही है।

LEAVE A REPLY