नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को कहा कि लोगों को उनके कर्तव्यों के बारे में जागरुक करना जरूरी है क्योंकि कर्तव्यों के बिना अपने अधिकारों की बात करना संविधान के बुनियादी मूल्य के खिलाफ है। यहां केंद्रीय सूचना आयोग (सीआईसी) के नए भवन के उद्घाटन समारोह को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि सूचना के अधिकार (आरटीआई) की तरह एक्ट राइटली (सही से कार्य करने) की अवधारणा पर चर्चा होनी चाहिए और नागरिकों को उनके अधिकारों के साथ कर्तव्यों के बारे में सूचित किया जाना चाहिए। उन्होंने सीआईसी से नागरिकों को सही से कर्तव्य निभाने के बारे में जागरुक करने का काम अपने हाथ में लेने को कहा। कर्तव्यपालन किए बिना अधिकारों पर दावा करने को संविधान के मूलभूत मूल्यों के विरुद्ध बताते हुए उन्होंने कहा कि अपने हित में या निहित स्वार्थों के लिए लोगों के अधिकारों और शक्तियों का दुरुपयोग करने का गलत तरीका बंद होना चाहिए।

LEAVE A REPLY