नई दिल्ली। पिछले दिनों मथुरा में एक हाथी संरक्षण एवं देखभाल केंद्र की सैर के बाद कनाडा के प्रधानमंत्री को सुरक्षित बचाए गए एक हाथी के पांव के निशान वाली पेंटिंग भेंट की गई। केंद्र को संचालित करने वाली वन्यजीव संस्था वाइल्डलाइफ एसओएस ने शनिवार को यह जानकारी दी। ट्रूडो इस हफ्ते की शुरुआत में अपनी पत्नी और तीन बच्चों के साथ वाइल्डलाइफ एसओएस की ओर से संचालित केंद्र को देखने गए थे। वाइल्डलाइफ एसओएस के संस्थापक कार्तिक सत्यनारायणन एवं गीता शेषमणि ने कनाडाई प्रधानमंत्री और उनके परिवार का स्वागत किया और उन्हें फूलकली के पांव के निशान वाली पेंटिंग पदचिह्न भेंट किया। इसके साथ उन्हें फूलकली की तस्वीर भी भेंट की गई। संस्था ने एक बयान जारी कर बताया कि फूलकली को उसके मालिकों ने अंधा कर डाला था और भीख मांगने के लिए उसका इस्तेमाल करते थे। अपने मालिकों के हाथों कई सालों के शोषण एवं अनदेखी के बाद उसे वर्ष २०१२ में उत्तर प्रदेश से छु़डाया गया था।

LEAVE A REPLY