कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने बुधवार को स्वर्ण मंदिर में मत्था टेका और उन्हें वहां सम्मानित किया गया। सफेद कुर्ता पाजामा पहने कनाडाई प्रधानमंत्री करीब एक घंटा तक मंदिर में रहे। उनके साथ उनकी पत्नी सोफी ग्रेगोरी और उनके तीन में दो बच्चे भी थे। वे सभी पारंपरिक पंजाबी परिधानों में थे। दरबार साहिब पहुंचने पर ट्रूडो परिवार पहले लंगर हाल गए तथा रसोई में सेवा निभाई। उन्होंने रसोई में बैठ कर आटा गूंथने तथा रोटियां बेली।कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने आज पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को आश्वासन दिया है कि उनका देश भारत या कहीं भी किसी अलगाववादी आंदोलन का समर्थन नहीं करता। कैप्टन अमरिंदर सिंह द्वारा अलगाववाद पर काबू पाने के लिए कनाडा के प्रधानमंत्री से सहयोग की मांग करने पर ट्रूडो ने उन्हें यह आश्वासन दिया। क्यूबेक में अलगाववादी आंदोलन का उल्लेख करते हुए ट्रूडो ने कहा कि उन्होंने इस तरह के खतरों के साथ निपटने में अपनी सारी जिंदगी बिता दी है तथा हिंसा के खतरों से वह पूरी तरह वाकिफ हैं।

LEAVE A REPLY