लंदन। प्रौद्योगिकी क्षेत्र की कंपनी एपल ने भारत समेत अन्य देशों में ल़डकियों की शिक्षा को ब़ढावा देने के लिए मलाला फंड के साथ करार किया है। इसका लक्ष्य अनुदानों की संख्या दोगुनी करना है।एपल ने जारी बयान में कहा कि एपल के सहयोग के बाद मलाला फंड को उम्मीद है कि गुलकमई नेटवर्क के तहत दिए जाने वाले अनुदानों की संख्या दोगुनी हो जाएगी तथा भारत एवं लैटिन अमेरिका में एक लाख से अधिक ल़डकियों को माध्यमिक शिक्षा प्रदान करने के प्राथमिक लक्ष्य को विस्तृत करने में मदद मिलेगी। सबसे कम उम्र में नोबल शांति पुरस्कार पाने वाली मलाला युसुफजई ने कहा, मेरा सपना है कि हर ल़डकी खुद अपना भविष्य चुने। एपल ने अपने नवोन्मेषण तथा समाजसेवा से दुनिया भर में लोगों को शिक्षित तथा सशक्त किया है। मैं आभारी हूं कि एपल ल़डकियों में निवेश का मूल्य पहचानती है और उसने बिना भय के उनकी शिक्षा सुनिश्चित करने के लिए फंड के साथ हाथ मिलाया है। एपल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी टिम कुक ने कहा, हमारा मानना है कि शिक्षा समानता लाने की प्रमुख ताकत है और इसीलिए हमने हर ल़डकी को स्कूल जाने का अवसर देने की मलाला फंड की प्रतिबद्धता साझा किया है।

LEAVE A REPLY