blast in badaun
blast in badaun

बदायूं। उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले में एक पटाखा फैक्ट्री में धमाका हो गया। यह धमाका इतना जबरदस्त था कि सात लोगों की मौत हो गई। वहीं तीन लोगों के घायल होने की खबर है। जानकारी के अनुसार, यह घटना रसूलपुर गांव की है। यहां एक फैक्ट्री में पटाखों का निर्माण किया जाता है। चर्चा है दिवाली की मांग को देखते हुए यहां काफी तादाद में पटाखे रखे हुए थे।

शुक्रवार शाम को फैक्ट्री के गोदाम में अचानक धमाका हो गया। इसकी गूंज कई दूर तक सुनाई दी। जोरदार धमाका सुन लोगों को अनहोनी की आशंका होने लगी। वे घटनास्थल की ओर दौड़े। सूचना के बाद पुलिस एवं प्रशासन के अधिकारी मौके पर पहुंचे और राहत कार्य शुरू करवाया। एक रिपोर्ट में बताया गया है कि यह धमाका इतना ज्यादा शक्तिशाली था कि शवों के चिथड़े उड़ गए।

घटनास्थल की कुछ तस्वीरें भी आ गई हैं। इनमें देखा जा सकता है कि जिस भवन में पटाखों का निर्माण किया जाता था, वह धराशायी हो गया। उसकी छत ढह गई है। इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि धमाका बहुत प्रबल था। आशंका जताई जा रही है कि भवन के ढहने के बाद कुछ लोग उसके नीचे दबे हो सकते हैं।

शुरुआती जानकारी में लापरवाही की बात भी सामने आ रही है। यह एक मकान था, जिसे पटाखा फैक्ट्री में तब्दील कर दिया गया। ऐसे में यह सवाल उठना स्वाभाविक ​है कि क्या उसमें पटाखों जैसी ज्वलनशील वस्तु के निर्माण को ध्यान में रखते हुए पुख्ता प्रबंध किए गए थे। देश में अब तक ऐसी कई घटनाएं हो चुकी हैं जब पटाखों के निर्माणस्थल पर भयानक धमाके हुए। चूंकि यहां काफी तादाद में विस्फोटक मौजूद होता है, इसलिए जन-धन की काफी हानि होती है।

पुलिस मामले की जांच कर रही है। अभी यह नहीं बताया गया कि धमाके की असल वजह क्या थी। घायलों की हालत गंभीर बताई जा रही है। गांव में कई थानों से पुलिसबल बुलाने के समाचार हैं। धमाके बाद यहां आग लग गई, जिसे बुझाने के लिए दमकल की गाड़ियां आ गईं। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रशासन को बचाव एवं राहत कार्य के आदेश दिए हैं। घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

ये भी पढ़िए:
– कमजोर गठबंधन से देश को नुकसान, अगले 10 सालों तक मजबूत नेतृत्व जरूरी: डोभाल
– सूरत के हीरा व्यापारी ने फिर दिखाई ​दरियादिली, 600 कर्मचारियों को तोहफे में दी कार
– विचित्र ठगी: मारवाड़ी नस्ल बताकर बेचा काला घोड़ा, कालिख उतरी तो निकला सफेद
– कश्मीर में मिली मात तो इस रास्ते हमले का मंसूबा बना रहे आतंकी, आईएसआई दे रही प्रशिक्षण

LEAVE A REPLY