चेन्नई। उप मुख्यमंत्री ओ पन्नीरसेल्वम ने बुधवार को राज्य विधानसभा में कहा कि चेन्नई की झुग्गी झोपि़डयों में रहने वाले लोगों को पुनर्वास योजना के तहत हटाए जाने के बाद आजीविका की समस्या से नहीं जूझना प़डे इसलिए तमिलनाडु स्लम उन्मूलन बोर्ड(टीएनएससीबी) द्वारा उत्तर चेन्नई के मूलकोतालम में सेवनवेल्स के निकट १३८ करो़ड रुपए की लागत से १०४४ घरों का निर्माण किया जाएगा। विधानसभा में एक द्रमुक विधायक द्वारा झुग्गी झोपि़डयों से स्थानांतरित किए जाने वाले लोगों के समक्ष आ रही रोजगार की समस्या की ओर ध्यान आकृष्ट करने के बाद उन्होंने जवाब देते हुए यह बात कही। उन्होंने बताया कि मूलकोतालम इलाके में श्मशान भूमि के लिए ३५.४३ एक़ड जमीन का आवंटित की गई थी इसमें से २३.९२ एक़ड जमीन का उपयोग श्मशान भूमि के लिए किया जा चुका है और शेष ११.५१ एक़ड जमीन स्लम उन्मूलन बोर्ड को स्थानांतरित कर दी गई है। उन्होंने बताया कि इसके लिए नगर निगम की ओर से अनापत्ति प्रमाणपत्र जारी कर दिया गया है और जल्द ही इन घरों का निर्माण कार्य शुरु कर दिया जाएगा। विधानसभा में एक द्रमुक सदस्य ने यह पूछा कि क्या सरकार राज्य में हिन्दी विरोधी आंदोलन के दौरान शहीद होने वाले प्रदर्शनकारियों की प्रतिमा को ढहाने की दिशा में कदम उठा रही है तो उप मुख्यमंत्री ने कहा कि इस बात में कोई सच्चाई नहीं है और राज्य में किसी भी स्मारक या प्रतिमा से किसी प्रकार की छे़डछा़ड या बदलाव करने की कोई योजना नहीं है।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY