ईरोड। यहां पर नूतन निर्मित श्री कुंथुनाथजी स्वामी जिनालय की प्रतिष्ठा बुधवार को संपन्न हुई। मूलनायक परिकर युक्त श्री कुंथुनाथ स्वामीजी, श्री शंखेश्वर पार्श्वनाथजी, श्री चिंतामणि पार्श्वनाथजी, श्री मणिभद्रवीरजी,श्री नाको़डा भैरवजी, श्री पद्मावती माता, श्री चक्रेश्वरी माँ, ध्वजा दंड, ध्वज एवं कलशारोपण आदि की प्राण प्रतिष्ठा गच्छादिपति आचार्यश्री अशोकरत्नसूरीश्वरजी, प्रवचनकार आचार्यश्री अमरसेनसूरीश्वरजी व मुनिश्री अजीतसेनविजयजी की निश्रा में सम्पन्न हुई। इस अवसर पर बेंगलूरु के विक्रमगुरु शाह एवं नीलेशभाई ने भव्य पंचाह्निका महोत्सव आदि अनेक कार्यक्रम विधि विधान से संपन्न करवाए। अमर ध्वजा च़ढाने का लाभ श्रीमती अनसीदेवी सांकलचंद सुराणा परिवार ने लिया। ध्वजा इनके निवास स्थान से शोभा यात्रा के रुप में विभिन्न मार्गों से होते हुए जिनालय पहुंची। प्रतिष्ठा महोत्सव में तारादेवी धीरजकुमारजी कोचर परिवार के सौजन्य से बने मुख्य हॉल का उद्घाटन किया हुआ। शाही करबा के आयोजन का लाभ सुकीबाई मोहनलाल करबावाला परिवार ने लिया। ईरोड पश्चिम के विधायक केवी.रामलिंगम ने नवनिर्मित जिनालय के इस कार्यक्रम में शिरकत की। विधायक का संघ के अध्यक्ष प्रकाश जैन, सचिव ललित करबावला, कोषाध्यक्ष बाबूलाल लुंकड, श्रीपाल बाफना, ललित सांड, नवीन चौधरी, सुरेश करबावाला, आनंद सुराणा, कल्पेश राठोड, परेश पारेख व अन्य पदाधिकारियों ने स्वागत किया। आयोजन को सफल बनाने में संघ के पदाधिकारियों, जिनशासन जैन सेवा मंडल, जिनशासन महिला मंडल व अन्य मंडलों की सहभागिता रही। मुंबई के संगीतकार निखिल ने भक्तिमयी प्रस्तुतियां दी।

LEAVE A REPLY