merger of 3 banks
merger of 3 banks

नई दिल्ली/वार्ता। सरकार ने सार्वजनिक क्षेत्र के तीन बैंकों विजया बैंक, देना बैंक और बैंक ऑफ बड़ौदा का विलय कर देश का तीसरा बैंक बनाने का निर्णय लिया है और अब तीनों बैंकों के निदेशक मंडल को इस निर्णय पर विचार करना है।

वित्त मंत्री अरुण जेटली की अध्यक्षता में सोमवार को यहां वैकल्पिक तंत्र (एएम) की बैठक हुयी जिसमें इन तीनों सरकारी बैंकों को विलय पर विचार करने का निर्णय लिया गया। इस तंत्र में रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और रेल मंत्री पीयूष गोयल शामिल हैं। संभावित विलय के बाद इनका कारोबार करीब 15 लाख करोड़ रुपए का होगा और यह देश का तीसरा बड़ा बैंक बन जायेगा।

जेटली ने संवाददाताओं का यह जानकारी देते हुए कहा कि वैश्विक स्तर पर प्रतिस्पर्धी बैंक बनाने को ध्यान में रखकर तीनों बैंकों के विलय पर विचार के लिए कहने का निर्णय लिया गया है। अब तीनों बैंकों के निदेशक मंडल को इस प्रस्ताव पर अलग-अलग विचार कर निर्णय लेना होगा और उनके निर्णय पर ही विलय की प्रक्रिया शुरू होगी। वित्तीय सेवा सचिव राजीव कुमार ने इस संबंध में ट्वीट किया है:

ये भी पढ़िए:
चीन से मदद ले रहे देशों पर सेना प्रमुख का बयान- ‘मुफ्त में कुछ नहीं मिलता, जल्द होगा अहसास’
नटवर सिंह ने किताब में बताया, इंदिरा गांधी ने की थीं अपनी ज़िंदगी में ये 2 बड़ी गलतियां
रेल के एसी कोच में बेडरोल खोलते ही निकला सांप, घबराए यात्रियों में मची भगदड़
उइगर महिला की आपबीती पढ़कर खड़े हो जाएंगे रोंगटे, चीन में मुसलमानों पर हैं ये पाबंदियां

LEAVE A REPLY