Terrorist Hafiz Saeed
Terrorist Hafiz Saeed

इस्लामाबाद। पाकिस्तान चाहे खुद को कितना ही आतंकवाद से पीड़ित बताए और उसके प्रधानमंत्री इमरान खान शांति की बातें करें, वह मुल्क एक बार फिर बेनकाब हो गया है। पाकिस्तान सरकार के एक मंत्री के बयान का वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें वे कुख्यात आतंकी हाफिज सईद की खुलकर पैरवी कर रहे हैं। मुंबई पर 26/11 हमलों का गुनहगार हाफिज सईद अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी है। वह युवाओं को भड़काकर कश्मीर में आतंकवाद को परवान चढ़ाने की साजिशों में जुटा है।

उसे पाकिस्तानी अदालतों द्वारा अब तक किसी मामले में कोई सजा नहीं हुई है। इसके बजाय वहां के मंत्री ही उसका पक्ष ले रहे हैं। इससे मालूम होता है कि पाकिस्तानी हुक्मरान पूरी तरह हाफिज सईद के पक्ष में खड़े हैं। इस वायरल वीडियो में पाकिस्तान के आतंरिक मामलों के राज्य मंत्री शहरयार अफरीदी आतंकी हाफिज सईद का बचाव करते दिख रहे हैं। वे हाफिज सईद को हर सूरत में बचाने का दावा कर रहे हैं।

शहरयार कुछ लोगों के साथ बातचीत कर रहे थे। इस दौरान एक शख्स कहता है कि हाफिज सईद की पार्टी को चुनाव आयोग ने पंजीकृत क्यों नहीं किया। फिर उसने बताया कि अमेरिका का काफी दबाव था। चूंकि हाफिज सईद को आतंकवादी घोषित कर दिया गया था, इस वजह से चुनाव आयोग ने उसकी पार्टी का पंजीकरण नहीं होने दिया। इसके बाद मंत्री शहरयार कहते हैं कि जब तक वे संसद में हैं और तहरीके—इंसाफ है, हाफिज सईद को तो छोड़ें, जो पाकिस्तान के हक में साथ देगा, हम उसका साथ देंगे। यह हमारा ईमान है।

यही नहीं, मंत्री ने हाफिज सईद के उन समर्थकों को संसद में आकर कार्यवाही देखने का न्योता दे डाला। वीडियो ट्विटर पर आने के बाद पाकिस्तान में ही मंत्री के बयान पर सवाल उठने लगे हैं। वहां के मशहूर पत्रकार बिलाल फारुखी ने कहा है कि पाकिस्तान ने एफएटीएफ ब्लैकलिस्ट में शामिल होने के लिए पक्का इरादा कर रखा है। बता दें कि हाफिज सईद के सिर पर 10 मिलियन डॉलर का इनाम है। यह अंतरराष्ट्रीय आतंकी मुंबई हमलों का मास्टर माइंड और भारतविरोधी गतिविधियों में लिप्त है।

LEAVE A REPLY