pm narendra modi
pm narendra modi

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। आगामी लोकसभा चुनाव में जीत के लिए भाजपा पूरी ताकत झोंक रही है। शनिवार को पूर्वोत्तर में अनेक विकास योजनाओं का शिलान्यास और जनसभा को संबोधित करने के बाद रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दक्षिण में रैलियां करेंगे। आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और कर्नाटक में मोदी की रैलियों को देखते हुए विपक्ष ने भी विरोध की तैयारी कर रखी है और कई जगह पोस्टर लगाए हैं। मोदी आंध्र प्रदेश के गुंटूर में रैली को संबोधित करेंगे।

पिछला लोकसभा चुनाव तेदेपा के साथ लड़ने के बाद अब दोनों के रास्ते जुदा हैं। इसकी वजह से दोनों पार्टियों में तल्खी भी बढ़ गई है। भाजपा यहां अपना मत प्रतिशत बढ़ाने के साथ ही सीटों में इजाफा करना चाहती है। रविवार को मोदी गुंटूर स्थित येटुकर बायपास पर कई विकास योजनाओं का शुभारंभ करेंगे। इनमें स्ट्रेटजिक पेट्रोलियम रिजर्व (एसीआर) भी है, जिसे वे राष्ट्र को समर्पित करेंगे।

प्रधानमंत्री मोदी तमिलनाडु के तिरुपुर में रैली को संबोधित करेंगे। इसके लिए भाजपा की स्थानीय इकाई उत्साहित है। अंतरिम बजट के बाद तमिलनाडु में मोदी की पहली यात्रा है। सियासी हलकों में भाजपा और अन्नाद्रमुक के गठबंधन की भी चर्चा हो रही है। वहीं तमिलनाडु के एक भाजपा नेता ने बताया कि मोदी की रैली में 1.5 लाख से ज्यादा लोगों के जुटने की संभावना है। मोदी पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं से संवाद भी करेंगे।

इसके बाद प्रधानमंत्री मोदी कर्नाटक के रायचूर स्थित गब्बूर गांव में रैली करेंगे। चूंकि इन दिनों राज्य में जनता दल (एस) और कांग्रेस के गठबंधन में उठापटक जारी है। ऐसे में पूरी संभावना है कि मोदी विपक्ष के महागठबंधन पर खूब शब्दबाण छोड़ सकते हैं। रैलियों के आयोजन के लिए राज्यों की भाजपा इकाई और स्थानीय राजनेता जुटे हुए हैं।

LEAVE A REPLY