falahari baba alwar
falahari baba alwar

अलवर। राजस्थान के अलवर में बहुचर्चित फलाहारी बाबा मामले में न्यायालय ने फैसला सुना दिया है। फलाहारी को दुष्कर्म का दोषी माना गया है। उसे उम्रकैद की सजा सुनाई गई है। साथ ही एक लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया गया है। एडीजे कोर्ट संख्या 1 राजेंद्र शर्मा की अदालत ने फलाहारी को धारा 376 (2च) और 506 के तहत दोषी माना।

इस मामले में 15 दिसंबर, 2017 को एसीजेएम न्यायालय में चार्जशीट फाइल हुई थी। पुलिस ने 40 पन्नों की चार्जशीट पेश की थी। इसमें फलाहारी के खिलाफ गंभीर आरोप लगाए गए थे। पुलिस ने 9 मार्च, 2018 को पीड़िता के बयान दर्ज किए। बता दें कि 11 सितंबर, 2017 को
छत्तीसगढ़ की एक युवती ने फलाहारी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी। उसने आरोप लगाया था कि फलाहारी ने उसके साथ दुष्कर्म किया।

इसके बाद उसका मेडिकल कराया गया और फाइल छत्तीसगढ़ से अलवर पुलिस को सौंप दी गई। अलवर पुलिस ने मामले की जांच की तो फलाहारी के कारनामों का भंडाफोड़ होने लगा। अब तक फलाहारी काफी घबरा गया था और गिरफ्तारी से बचने के लिए उसने कई हथकंडे अपनाए। उसने खुद की खराब सेहत का हवाला दिया, लेकिन कानून के शिकंजे से खुद को बचा नहीं पाया।

गिरफ्तारी के बाद उसने जेल स्टाफ से खाने के लिए फल मांगे लेकिन बाद में उसे जेल के खाने पर ही संतोष करना पड़ा। पुलिस की ओर से उसका मेडिकल कराया गया जहां उसका स्वास्थ्य सामान्य पाया गया। अब उसे न्यायालय ने दोषी करार दे दिया है।

ये भी पढ़िए:
– आधार कार्ड पर उच्चतम न्यायालय का फैसला किस तरह करेगा आपकी ज़िंदगी को प्रभावित?
– एयरपोर्ट आईं नोरा फतेही ने जोरदार डांस कर सबको चौंका दिया, वायरल हुआ यह वीडियो
– मोबाइल नंबर, बैंक अकाउंट से आधार लिंक जरूरी नहीं, जानिए उच्चतम न्यायालय का फैसला
– शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष बोले- ‘सपने में श्रीराम को रोते देखा, अयोध्या में जल्द बने मंदिर’

LEAVE A REPLY