bengaluru airport
bengaluru airport

नई दिल्ली/भाषा। देश में हवाई यात्रियों को जल्द ही चेहरा पहचान कर हवाईअड्डों पर प्रवेश करने की सुविधा उपलब्ध हो जाएगी। सरकार अपनी डिजि यात्रा पहल के तहत यह सुविधा देने की दिशा में काम कर रही है। नागर विमानन मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा कि यह पहल भविष्योन्मुखी है और इसे जल्द शुरू किया जाएगा। मंत्रालय के अनुसार डिजि यात्रा प्लेटफॉर्म फरवरी 2019 के अंत तक शुरू होने की उम्मीद है।

बेंगलूरु और हैदराबाद हवाईअड्डे तब तक इसे पायलट आधार पर चलाने के लिए तैयार हो जाएंगे। उन्होंने कहा कि यात्रियों के पास विकल्प होगा कि वह चेहरा पहचानने की सुविधा का उपयोग कर हवाई यात्रा करना चाहते हैं या नहीं।

डिजि यात्रा पहल का उद्देश्य हवाई यात्रा को ज्यादा से ज्यादा कागज रहित और बाधा रहित बनाना है। चेहरा पहचानने की सुविधा डिजिटल और बायोमीट्रिक आधारित होगी। इससे यात्री को हवाई अड्डों पर प्रवेश एवं अन्य आवश्यकताओं को पूरा करने में आसानी होगी।

मंत्रालय के अनुसार भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण अगले साल अप्रैल तक इस सुविधा को कोलकाता, वाराणसी, पुणे और विजयवाड़ा हवाईअड्डे पर शुरू करने की योजना बना रहा है। डिजि यात्रा के तहत यात्रियों के लिए एक केंद्रीयकृत पंजीकरण प्रणाली स्थापित कर सभी को एक विशेष पहचान दी जाएगी। यात्रियों को यह विशेष पहचान टिकट बुक कराते वक्त साझा करनी होगी।

ये भी पढ़िए:
– तेज रफ्तार से चल रही थी ट्रेन, अचानक फिसली यह लड़की, वीडियो रोंगटे खड़े कर देगा
– योगी को घेरने की कोशिश में दिग्विजय ने पोस्ट की फर्जी तस्वीर, खूब उड़ रहा मजाक
– अगर भारत में हो जापान की इस तकनीक का इस्तेमाल तो मुफ्त में मिल सकती है बिजली!
– जेल में छुपकर बातें करता था कैदी, पोल खुलने के डर से निगल लिया मोबाइल

LEAVE A REPLY