alok nath
alok nath

मुंबई। यौन शोषण के खिलाफ महिलाओं द्वारा सोशल मीडिया पर जारी मुहिम ‘मी टू’ के लपेटे में संस्कारी छवि वाले अभिनेता आलोक नाथ भी आ गए हैं। उन पर 1990 के दशक के मशहूर शो ‘तारा’ की लेखिका और प्रोड्यूसर विनता नंदा ने गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा है कि आलोक नाथ ने करीब दो दशक पहले उनके साथ दुष्कर्म किया।

फेसबुक पर लिखी एक पोस्ट में उन्होंने आरोप लगाया है कि इस क्षण का उन्हें 19 साल से इंतजार था। इस पोस्ट में उन्होंने आलोक नाथ की ओर संकेत करते हुए उन्हें फिल्म और टीवी इंडस्ट्री का सबसे ज्यादा संस्कारी शख्स कहा है। इसके बाद आलोक नाथ सोशल मीडिया पर चर्चा में आ गए।

चौंकाने वाले दावे
नंदा ने उन्हें ‘उस दशक का स्टार’ और ‘मुख्य अभिनेता’ भी कहा है। बाद में उन्होंने स्वीकार किया कि यह ‘संस्कारी’ छवि वाला शख्स कोई और नहीं बल्कि आलोक नाथ ही हैं। नंदा ने उनके बारे में जो दावे किए हैं, वे बेहद चौंकाने वाले हैं। उन्होंने लिखा है कि वह एक शराबी, लापरवाह और बुरा शख्स था लेकिन वह उस दशक का टीवी स्टार भी था। उन्होंने लिखा है कि इसीलिए न केवल उसके बुरे व्यवहार के लिए माफ कर दिया जाता था, बल्कि कई लोग उसे और भी ज्यादा बुरा बनने के लिए उकसाते थे।

नंदा ने आरोप लगाया कि आलोक नाथ शो की मुख्य अभिनेत्री को भी परेशान करते थे, जो उनमें कोई दिलचस्पी नहीं रखती थी। उन्होंने लिखा है कि एक बार वे आलोक नाथ के घर हुई पार्टी में शामिल हुई थीं। उनके ड्रिंक में कोई पदार्थ मिला दिया गया था। इसके बाद वे रात करीब 2 बजे घर जाने के​ लिए निकलीं। नंदा ने लिखा है कि वे पैदल जा रही थीं। जब वे रास्ते में थीं, तभी उस शख्स ने करीब आकर गाड़ी रोकी और बैठने के लिए कहा ताकि वह उन्हें घर छोड़ सके। वे विश्वास कर गाड़ी में बैठ गईं।

ये हैं आरोप
नंदा ने दावा किया है कि उन पर बेहोशी छा रही थी। उन्हें और ज्यादा शराब पिलाई गई और हिंसक व्यवहार किया गया। अगले दिन दोपहर को वे उठीं। नंदा का आरोप है कि इस दौरान उनके साथ दुष्कर्म किया गया और नृशंस व्यवहार हुआ। उन्होंने अपने दोस्तों से इस घटना का जिक्र किया तो उन्होंने इसे भूलने के लिए ​कहा।

नंदा ने लिखा है कि एक नई सीरीज के सिलसिले में उनका आलोक नाथ से फिर सामना हुआ। वे उन्हें परेशान करते थे, इसलिए वे निर्देशन से हट गईं और सिर्फ लेखन पर ध्यान दिया। हालांकि नंदा यह भी कहती हैं कि नई सी​रीज के सिलसिले में उक्त अभिनेता ने उन्हें घर बुलाया और वे सबकुछ झेलने के लिए उनके पास चली गईं, क्योंकि उन्हें काम और पैसे की जरूरत थी। इन तमाम आरोपों पर आलोकनाथ ने कहा है कि वे चुप ही रहना चाहेंगे। नंदा को अपने विचार रखने का हक है। समय आने पर सही बातें सामने आ जाएंगी।

इन पर भी उठीं उंगलियां
बता दें कि इस समय सोशल मीडिया पर ‘मी टू’ अभियान जबरदस्त चर्चा में है। पिछले दिनों अभिनेत्री तनुश्री दत्ता ने नाना पाटेकर पर आरोप लगाया था कि उन्होंने 2008 में एक फिल्म की शूटिंग के दौरान उनसे बदसलूकी की थी। नाना पाटेकर ने इस मामले को लेकर तनुश्री को कानूनी नोटिस भेजा है। इसके बाद सोशल मीडिया पर कई महिलाएं अपनी ज़िंदगी से जुड़ी घटनाओं को साझा कर चुकी हैं। ‘मी टू’ के तहत अब तक अभिनेता रजत कपूर, कॉमेडियन तन्मय भट्ट, गुरसिमरन खम्बा, प्रोड्यूसर विकास बहल, लेखक चेतन भगत और पूर्व संपादक एवं वर्तमान में विदेश राज्यमंत्री एमजे अकबर आदि पर आरोप लग चुके हैं।

आलोक नाथ ने तोड़ी चुप्पी
इस पूरे मामले पर आलोक नाथ ने कहा है कि नंदा का रेप हुआ होगा, लेकिन किसी और ने किया होगा। उन्होंने कहा, कुछ तो लोग कहेंगे। न तो मैं इससे इनकार कर रहा हूं और न ही मैं इसे मानने को तैयार हूं। रेप हुआ होगा, लेकिन यह किसी और ने किया होगा। मैं इस बारे में ज़्यादा बात नहीं करना चाहता क्योंकि अब यह बाहर आ ही गया तो काफी खींचा भी जाएगा। उन्होंने कहा, लोग सिर्फ महिलाओं का ही पक्ष सुनते हैं क्योंकि उन्हें समाज में कमजोर समझा जाता है।

LEAVE A REPLY