afghan security forces
afghan security forces

काबुल। लंबे समय से तालिबान और विभिन्न आतंकी संगठनों से त्रस्त अफगानिस्तान में सुरक्षाबलों ने बड़ी कार्रवाई की है। इस दौरान 16 आतंकवादी मारे गए। मुठभेड़ में 16 आतंकियों के घायल होने के भी समाचार हैं। सुरक्षाबलों ने यह कार्रवाई बगलान प्रांत के दंड-ए-गोरी में अंजाम दी। इस इलाके के गांवों में तालिबान के आतंकी कब्जा कर बैठे थे। सुरक्षाबलों ने उन पर जोरदार धावा बोला और यह कामयाबी हासिल की।

स्थानीय पुलिस ने गुरुवार को इस कार्रवाई की पुष्टि की है। एक समाचार एजेंसी को दी गई जानकारी के मुताबिक, तालिबान के आतंकियों ने पिछले दिनों यहां कई गांवों पर कब्जा कर लिया था। अब जवाबी कार्रवाई कर सुरक्षाबलों ने यह इलाका दोबारा कब्जे में ले लिया है। यहां तालिबानी आतंकियों ने अपने अड्डे कायम कर लिए थे, जिन्हें ध्वस्त कर दिया गया है।

जब काबिज हुए तालिबान
बता दें कि दंड-ए-गोरी तालिबान का गढ़ रहा है। करीब दो साल पहले भी तालिबानियों ने यहां कब्जा कायम कर लिया था जिसके बाद सुरक्षाबलों ने यह इलाका दोबारा हासिल किया। अब एक बार फिर तालिबान यहां कब्जा करने की फिराक में है। सुरक्षाबलों की ओर से कहा गया है कि दंड-ए-गोरी में तालिबान के खिलाफ कार्रवाई जारी रहेगा और यहां से तालिबान विद्रोहियों का सफाया किया जाएगा।

बंदूक से सत्ता का सपना
नब्बे के दशक में छात्रों के आंदोलन के रूप में तालिबान की नींव डाली गई थी लेकिन जल्द ही इसके खूंखार इरादे सबके सामने आ गए। आज यह कुख्यात आतंकी संगठन बन चुका है जिसका इरादा बम और बंदूक के दम पर अपनी सत्ता कायम करना है। तालिबान न केवल अफगानिस्तान, बल्कि पाकिस्तान के भी कई इलाकों में मजबूत रहा है।

पूर्व में पाकिस्तान की स्वात घाटी के बड़े भूभाग पर तालिबान कब्जा कर चुके हैं। उस दौरान उनके खिलाफ ब्लॉग लिखने वाली बच्ची मलाला यूसुफजई को 9 अक्टूबर, 2012 को गोली मार दी गई। हालां​कि वे बच गईं और बाद में उन्हें नोबेल प्रयास भी मिला। स्वात और अफगानिस्तान में तालिबान की विध्वंसक गतिविधियों से लाखों लोग बुरी तरह प्रभावित हुए हैं।

ये भी पढ़िए:
– बांग्लादेश: 1971 के युद्ध में हिंदुओं की हत्या करने वाले दो कट्टरपंथियों को सजा-ए-मौत
– चीन से मदद मांगने इमरान पहुंचे बीजिंग, पाकिस्तानी चैनल ने लिखा भीख, खूब लगे ठहाके
– बिहार में छठव्रतियों को 6 हजार रु. मिलने की अफवाह, डाकघरों में उमड़ी भीड़ से कर्मचारी परेशान
– यूट्यूब पर धूम मचा रहा है आम्रपाली दुबे का यह वीडियो, छठ को है समर्पित

LEAVE A REPLY