बेंगलूरु/दक्षिण भारतभारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अध्यक्ष अमित शाह ने कहा है कि पार्टी कर्नाटक में बीएस येड्डीयुरप्पा की अगुवाई में अपने दम पर सरकार बनाएगी और चुनाव बाद किसी से सहयोग की जरुरत ही नहीं प़डेगी। कर्नाटक में १२ मई को होने वाले विधानसभा चुनाव प्रचार के अंतिम दिन गुरुवार को बादामी में रो़ड शो करने के बाद यहां आयोजित संवाददाता सम्मेलन में शाह ने नतीजों के बाद सरकार बनाने के लिए भाजपा को किसी और से सहयोग की जरुरत को सिरे से नकारते हुए कहा कि पार्टी १३० से अधिक सीटों पर विजयी होगी और येड्डीयुरप्पा के नेतृत्व में अपने बूते पर सरकार का गठन कर पूरे पांच साल सरकार चलायेगी। कांग्रेस पर हमला करते हुए शाह ने कहा कि कांग्रेस अलोकतांत्रिक तरीके अपनाकर कर्नाटक विधानसभा चुनाव जीतने की जुगत में है। कांग्रेस की यह मंशा कभी पूरी नहीं होगी। उन्होंने कहा कि राजराजेश्वरी नगर में हजारों की संख्या में मिले वोटर आई कार्ड कांग्रेस की चुनाव जीतने की हताशा को बयां करते हैं। भाजपा अध्यक्ष ने फर्जी वोटर पहचान पत्र बनाने वालों को आगाह करते हुए कहा कि वह कांग्रेस के जाल में फंस कर चुनाव में ग़डब़डी नहीं करें। उन्होंने राज्य की जनता से कर्नाटक की सेवा और भलाई के काम करने के लिए भाजपा को सरकार बनाने का एक अवसर देने की अपील की।प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की राज्य में हुई चुनावी रैलियों का जिक्र करते हुए शाह ने कहा कि कर्नाटक की जनता ने यह दिखाया कि वह मोदी में कितना विश्वास और उनसे प्यार करते हैं। सिद्दरामैया सरकार के प्रति लोगों का गुस्सा अनुभव किया है। उन्होंने राज्य के लिए कुछ नहीं किया। कर्नाटक सरकार ने किसानों के लिए कोई काम नहीं किया और अपनी असफलता का जवाब देने के लिए भी तैयार नहीं हैं। कर्नाटक में कानून-व्यवस्था की स्थिति को बहुत खराब बताते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि २४ से ज्यादा भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के कार्यकर्ताओं की बुरी तरह हत्या कर दी गयी और कांग्रेस इसे राजनीति का हिस्सा बता रही है। इन घटनाओं के दोषियों को पक़डने के लिए राज्य सरकार ने कुछ नहीं किया। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद देश में सिद्दरामैया सरकार का कर्नाटक में पांच साल का कार्यकाल सबसे खराब रहा है।

LEAVE A REPLY