अद्भुत प्रतिभा: 11 साल का यह नन्हा ‘गुरुजी’ इंजीनियरिंग के छात्रों को देता है कोचिंग

0
173

हैदराबाद। जिस उम्र में लोगों की दुनिया खेल और परियों की कहानी तक सीमित होती है, उसी उम्र में एक बच्चा खुद से दुगुनी या इससे भी ज्यादा उम्र के विद्यार्थियों को पढ़ा रहा है। हैदराबाद के मोहम्मद हसन अली की उम्र सिर्फ 11 साल है और वे खुद सातवीं कक्षा में पढ़ते हैं, लेकिन उनमें इतनी काबिलियत है कि वे इंजीनियरिंग के विद्यार्थियों को कोचिंग दे रहे हैं।

इसके बाद सोशल मीडिया पर इस बच्चे की काबिलियत की खास कहानी और तस्वीरें खूब शेयर हो रही हैं। हसन के विद्यार्थियों में से ज्यादातर बीटेक और एमटेक की पढ़ाई कर रहे हैं। वे हर रोज नियम से इन्हें पढ़ाने जाते हैं। जब वे कक्षा में दाखिल होते हैं तो उसके बाद उनके हावभाव और अध्यापन के तरीके पूरी तरह एक दक्ष शिक्षक की तरह होते हैं।

लोगों को इस बात पर आश्चर्य हो सकता है कि एक बच्चा आखिर इतनी कम उम्र में कैसे इंजीनियरिंग विद्यार्थियों को पढ़ा सकता है! हसन अपने विद्यार्थियों से कोई शुल्क नहीं लेते। वे इंजीनियरिंग के विद्यार्थियों को डिजाइन और ड्राफ्टिंग की कोचिंग देते हैं। उनका ख्वाब है ​कि 2020 के आखिर तक एक हजार से ज्यादा इंजीनियरिंग विद्यार्थियों को पढ़ाएं।

हसन ने बताया कि वे इस कार्य में पिछले एक साल से जुटे हैं। क्या इन सबका उनकी पढ़ाई पर कोई असर होता है? इस सवाल पर उन्होंने बताया कि कोचिंग देने के बावजूद उनकी पढ़ाई इससे अप्रभावित रही। वे सुबह स्कूल जाते हैं और शाम को अपना होमवर्क करने के बाद 6 बजे कोचिंग चले जाते हैं।

हसन बताते हैं कि देश में इंटरनेट एक बेहतरीन जरिया है, जिससे उन्होंने काफी चीजें सीखीं। इंटरनेट पर डिजाइनिंग संबंधी वीडियो देखने से उनकी जानकारी में काफी इजाफा हुआ। उनके विद्यार्थी भी शिक्षण के तरीकों की तारीफ करते हैं। एक इंटरव्यू में हसन ने बताया कि वे अपने देश के लिए कुछ अच्छा काम करना चाहते हैं।

ये भी पढ़िए:
– पाकिस्तान में ईशनिंदा मामले में फांसी की सजा पाई ईसाई महिला रिहा, हुआ भारी बवाल
– गोलियों की गूंज में रिकॉर्ड किया वीडियो- ‘मौत से खौफ नहीं, मां तुम्हें प्यार करता हूं’
– विश्व बैंक की सूची में भारत की 23 पायदान लंबी छलांग, कारोबार करना हो रहा आसान
– इस धनतेरस पर राशि के अनुसार खरीदें ये चीजें, बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपा

LEAVE A REPLY